Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#2 Trending Author
May 13, 2022 · 1 min read

बिछड़न [भाग २]

सात जन्म का वादा करके
बीच मे क्यों चल दिए हमें छोड़।
जाते-जाते तुमने यह भी न बताया,
कहाँ चल दिए और किस ओर।

अब तुम ही बताओं हमें
मैं तुमको ढूँढू कैसे,
कहाँ और किस ओर।
जब रिशता तुमने जोड़ा था,
बोले थे यह है पक्का जोड़।

जब प्यार की बातें की थी,
तुमने चारों तरफ मचा के शोर
फिर क्यों अकेले चूपचाप निकल गए,
हमें अकेला तनहाई में छोड़।

अब यह आँखे ढूँढ रही है,
तुमको चारों ओर,
और तुम हो जो ऐसे छुपकर बैठे हो,
जैसे छुपता है कोई चोर।

आज भी दिल मेरा बुला रहा है,
तुम्हें मचा-मचा के शोर।
पर न जाने तुम क्यों
नही हमें बता रहे हो,
अपना ठिकाना अपना ठौर।

~अनामिका

2 Likes · 76 Views
You may also like:
विश्व फादर्स डे पर शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
# मां ...
Chinta netam " मन "
जग के पिता
DESH RAJ
जब चलती पुरवइया बयार
श्री रमण
#जंगली फर (चार)....
Chinta netam " मन "
सुन्दर घर
Buddha Prakash
पुस्तक समीक्षा- बुंदेलखंड के आधुनिक युग
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
फूल
Alok Saxena
जीवन-दाता
Prabhudayal Raniwal
नित नए संघर्ष करो (मजदूर दिवस)
श्री रमण
मुस्कुराहट का नाम है जिन्दगी
Anamika Singh
नववर्ष का संकल्प
DESH RAJ
【9】 *!* सुबह हुई अब बिस्तर छोडो *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
*पुस्तक का नाम : अँजुरी भर गीत* (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
" मां भवानी "
Dr Meenu Poonia
*सभी को चाँद है प्यारा ( मुक्तक)*
Ravi Prakash
" अखंड ज्योत "
Dr Meenu Poonia
शिव स्तुति
अभिनव मिश्र अदम्य
दादी मां की बहुत याद आई
VINOD KUMAR CHAUHAN
✍️सुकून✍️
"अशांत" शेखर
फरिश्ता बन गए हो।
Taj Mohammad
घृणित नजर
Dr Meenu Poonia
मां शारदे
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
पितृ स्तुति
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
" एक हद के बाद"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
उड़ जाएगा एक दिन पंछी, धुआं धुआं हो जाएगा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
परिवर्तन की राह पकड़ो ।
Buddha Prakash
घुतिवान- ए- मनुज
AMRESH KUMAR VERMA
बना कुंच से कोंच,रेल-पथ विश्रामालय।।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जंगल में कवि सम्मेलन
मनोज कर्ण
Loading...