Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

बिंदु छंद “राम कृपा”

सत्यसनातन, ये है ज्ञाना।
भक्ति बिना नहिं, हो कल्याना।।
राम-कृपा जब, होती प्राणी।
हो तब जागृत, अन्तर्वाणी।।

चक्षु खुले मन, हो आचारी।
दूर हटे तब, माया सारी।।
प्रीत बढ़े जब, सद्धर्मों में।
जी रहता नित, सत्कर्मों में।

राम समान न, कोई देवा।
इष्ट धरो अरु, चाखो मेवा।।
नित्य जपे नर, जो भी माला।
दुःख हरे सब, वे तत्काला।

पाप भरी यह, मेरी काया।
मैं नतमस्तक, हो के आया।।
राम दयामय, मोहे तारो।
कष्ट सभी प्रभु, मेरे हारो।।
================

बिंदु छंद विधान –

“भाभमगा” यति, छै ओ’ चारी।
‘बिंदु’ रचें सब, छंदा प्यारी।।

“भाभमगा” = भगण भगण मगण गुरु

(211 211, 222 2) = 10 वर्ण प्रति पद का वर्णिक छंद। 4 पद, (यति 6 और 4 वर्ण पर।) दो-दो पद समतुकांत।
*******************

बासुदेव अग्रवाल ‘नमन’ ©
तिनसुकिया

28 Views
You may also like:
तुम ख़्वाबों की बात करते हो।
Taj Mohammad
परिवार दिवस
Dr Archana Gupta
बुद्धिमान बनाम बुद्धिजीवी
Shivkumar Bilagrami
सच ही तो है हर आंसू में एक कहानी है
VINOD KUMAR CHAUHAN
रमेश कुमार जैन ,उनकी पत्रिका रजत और विशाल आयोजन
Ravi Prakash
✍️अल्फाज़ो का कोहिनूर "ताज मोहम्मद"✍️
'अशांत' शेखर
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस
Ram Krishan Rastogi
बस तेरे लिए है
bhandari lokesh
“NEW ABORTION LAW IN AMERICA SNATCHES THE RIGHT OF WOMEN”
DrLakshman Jha Parimal
आप कौन है
Sandeep Albela
मां की महानता
Satpallm1978 Chauhan
.✍️स्काई इज लिमिटच्या संकल्पना✍️
'अशांत' शेखर
जात पात
Harshvardhan "आवारा"
पसीना।
Taj Mohammad
✍️दो आँखे एक तन्हा ख़्वाब✍️
'अशांत' शेखर
ममता की फुलवारी माँ हमारी
Dr.Alpa Amin
तन्हाई के आलम में।
Taj Mohammad
मेरे हर सिम्त जो ग़म....
अश्क चिरैयाकोटी
The Magical Darkness
Manisha Manjari
जाने कैसा दिन लेकर यह आया है परिवर्तन
आकाश महेशपुरी
मेरा इंतजार करना।
Taj Mohammad
हमलोग
Dr.sima
मैं हासिल नही हूं।
Taj Mohammad
आइये, तिरंगा फहरायें....!!
Kanchan Khanna
मुट्ठी में ख्वाबों को दबा रखा है।
Taj Mohammad
सोलह शृंगार
श्री रमण 'श्रीपद्'
जाने क्यों
सूर्यकांत द्विवेदी
बुंदेली दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
बरसात आई झूम के...
Buddha Prakash
दिल को तेरी तमन्ना
Dr fauzia Naseem shad
Loading...