Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 12, 2021 · 1 min read

बाल मजदूरी

12 जून, विश्व बाल मजदूरी निषेध दिवस पर कविता
°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°

उमर जब खेलने की थी खिलौनों से।
वो सोचने लगा,पेट कैसे भरेगा निबालों से।

भाग्य से किश्मत से, होकर के मजबूर।
अबोध बालक ही, बन जाते हैं मजदूर।

पेट की भूख, इनको मजबूर बनाती।
कड़की ठंड में भी, जीना सिखाती।

उठे जब भाव दर्द, अश्रु ही वो बहाते।
बिन पोछे, स्वयं सूर्यदेव कभी सुखाते।

उमर भी रही कम, जब बनाने थे थाट।
छोड़ गुरुर,सहनी पड़ती मालिक की डांट।

कहीं चाय बेचे, अखबार भी कहीं पर।
जब क्षीण हो शक्ति, रो बैठे जमीं पर।

मृदुल हाथों से वह हथियार चलाता।
मात पितु का जब साया उठ जाता।

कथनी व करनी बाल मजदूरी पर ऐसी।
समाज में लगती सेमल फूल जैसी।

निरर्थक हो जाती हैं बाल योजनाएं।
जब नन्हा दुलारा मजदूरी कमाए।

माना किश्मत ने किया है,उसके साथ धोखा।
मगर सभ्य समाज ने, उसे क्यूँ नहीं रोका।

दे देता कलम और, किताब उसके हाथों में।
किश्मत बदल सकती, उसकी जज्बातों में।

आओ इनकी बेवशी को, खुशियों से झोंक दें।
चलों यारों अब तो, बाल मजदूरी को रोक दें।

°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°
★अशोक शर्मा, लक्ष्मीगंज, कुशीनगर,उ.प्र.★
°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°°

2 Likes · 168 Views
You may also like:
इंसाफ के ठेकेदारों! शर्म करो !
ओनिका सेतिया 'अनु '
जिन्दगी एक दरिया है
Anamika Singh
कलम की वेदना (गीत)
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
*!* दिल तो बच्चा है जी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
✍️जुर्म संगीन था...✍️
"अशांत" शेखर
💐 निगोड़ी बिजली 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ज्ञान की बात
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
“सराय का मुसाफिर”
DESH RAJ
मां से बिछड़ने की व्यथा
Dr.Alpa Amin
🌷🍀प्रेम की राह पर-49🍀🌷
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
“ गलत प्रयोग से “ अग्निपथ “ नहीं बनता बल्कि...
DrLakshman Jha Parimal
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
“ अरुणांचल प्रदेशक “ सेला टॉप” “
DrLakshman Jha Parimal
कांटों पर उगना सीखो
VINOD KUMAR CHAUHAN
लांगुरिया
Subhash Singhai
जातिगत जनगणना से कौन डर रहा है ?
Deepak Kohli
औकात में रहिए
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
यह इश्क है।
Taj Mohammad
गरीबी तमाशा बना
Dr fauzia Naseem shad
My eyes look for you.
Taj Mohammad
विश्वास
Harshvardhan "आवारा"
नेता और मुहावरा
सूर्यकांत द्विवेदी
Keep faith in GOD and yourself.
Taj Mohammad
गुज़रते कैसे हैं ये माह ओ साल मत पूछो
Anis Shah
🌺प्रेमस्य रसः ज्ञानस्य रसेण बहु विलक्षणं🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
नेता बनि के आवे मच्छर
आकाश महेशपुरी
प्रकृति का उपहार
Anamika Singh
आज जानें क्यूं?
Taj Mohammad
माँ तुम अनोखी हो
Anamika Singh
“ मिलि -जुलि केँ दूनू काज करू ”
DrLakshman Jha Parimal
Loading...