Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 24, 2022 · 1 min read

बारिश का सुहाना माहौल

तेरे शहर में बारिश का सुहाना माहौल है। मेरे शहर में सूखे से पड़ा अकाल है। बादल है कि बेरहम काल है।
बरस दे एक दफा मेरे शहर में प्यास से हर एक परिंदा बेहाल है आज मेरे शहर में भी बारिश का माहौल है।।

KAMAL THAKUR

99 Views
You may also like:
*फहराऍं आज तिरंगा (देशभक्ति गीत)*
Ravi Prakash
✍️झूठ और सच✍️
'अशांत' शेखर
*अग्रसेन जी धन्य (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मां ने।
Taj Mohammad
उसे कभी न ……
Rekha Drolia
🍀प्रेम की राह पर-55🍀
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दोस्ती का एहसास होता है
Dr fauzia Naseem shad
धन्य है पिता
Anil Kumar
वरिष्ठ गीतकार स्व.शिवकुमार अर्चन को समर्पित श्रद्धांजलि नवगीत
ईश्वर दयाल गोस्वामी
My eyes look for you.
Taj Mohammad
चलो करें धूम - धड़ाका..
लक्ष्मी सिंह
वो प्यार कैसा
Nitu Sah
मेरी जिन्दगी से।
Taj Mohammad
सद् गणतंत्र सु दिवस मनाएं
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कुछ तुम बदलो, कुछ हम बदलें।
निकेश कुमार ठाकुर
यशोधरा की व्यथा....
kalyanitiwari19978
*आचार्य बृहस्पति और उनका काव्य*
Ravi Prakash
उन्हें क्या पता।
Taj Mohammad
कोई ठांव मुझको चाहिए
Saraswati Bajpai
'पिता' हैं 'परमेश्वरा........
Alpa
खुशियाँ ही अपनी हैं
विजय कुमार अग्रवाल
संस्कार जगाएँ
Anamika Singh
*प्लीज और सॉरी की महिमा {#हास्य_व्यंग्य}*
Ravi Prakash
मनुष्यस्य शरीर: तथा परमात्माप्राप्ति:
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मन
Pakhi Jain
शम्मा ए इश्क।
Taj Mohammad
जिंदगी एक कविता
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
क्यों ना नये अनुभवों को अब साथ करें?
Manisha Manjari
'चिराग'
Godambari Negi
सलामत् रहे ....
shabina. Naaz
Loading...