Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 29, 2021 · 1 min read

‘ बारिश का मज़ा ‘

चम – चम चपला
घन – घन बदरा
जैसे बाजे तबला ,

छप – छप छपाक
तप – तप तपाक
बारिश आई बेबाक ,

थर – थर थर्राये
टर्र – टर्र टर्राये
मानुस मेढ़क भर्राये ,

टप – टप ओले
सन – सन शोले
बम जैसे गोले ,

छन – छन छनाई
खल – खल खौलाई
पकौड़ी चाय पकाई ,

गुन – गुन गाना
सुन – सुन सुनाना
बारिश का मज़ा दुगना ।

स्वरचित , मौलिक एवं अप्रसारित
( ममता सिंह देवा , 29/05/2021 )

2 Likes · 6 Comments · 266 Views
You may also like:
वो इश्क है किस काम का
Ram Krishan Rastogi
ज़िद
Harshvardhan "आवारा"
बुढ़ापे में अभी भी मजे लेता हूं
Ram Krishan Rastogi
श्री हनुमत् ललिताष्टकम्
Shivkumar Bilagrami
- साहित्य मेरी जान -
bharat gehlot
रुक-रुक बरस रहे मतवारे / (सावन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मानवता
Dr.sima
जो आया है इस जग में वह जाएगा।
Anamika Singh
फिर भी तुम्हारे लिए
gurudeenverma198
✍️मेरी कलम...✍️
"अशांत" शेखर
प्रकृति के चंचल नयन
मनोज कर्ण
किस्मत की निठुराई....
डॉ.सीमा अग्रवाल
टूटता तारा
Anamika Singh
नियमित बनाम नियोजित(मरणशील बनाम प्रगतिशील)
Sahil
देख कर
Dr fauzia Naseem shad
** तक़दीर की रेखाएँ **
Dr.Alpa Amin
स्वर्गीय श्री पुष्पेंद्र वर्णवाल जी का एक पत्र : मधुर...
Ravi Prakash
कल भी होंगे हम तो अकेले
gurudeenverma198
प्रेम की किताब
DESH RAJ
गज़ल सी रचना
Kanchan Khanna
मेरा जीवन
Anamika Singh
# बारिश का मौसम .....
Chinta netam " मन "
पापा आपकी बहुत याद आती है !
Kuldeep mishra (KD)
सूरज से मनुहार (ग्रीष्म-गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
वक्त को कब मिला है ठौर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अज़ल की हर एक सांस जैसे गंगा का पानी है./लवकुश...
लवकुश यादव "अज़ल"
💐कह भी डालो यार 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
रिश्तो मे गलतफ़हमी
Anamika Singh
✍️इश्तिराक✍️
"अशांत" शेखर
बस तुम को चाहते हैं।
Taj Mohammad
Loading...