Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 25, 2022 · 1 min read

ठाकरे को ठोकर

सरकार पार्टी से नहीं और न ही प्रॉपर्टी से बनती है।
सरकार अपने हर एक विधायक और सांसद के सत्कार से बनती है।

एकनाथ शिंदे बागी नहीं तुम्हारी औकात को दिखाया है।
विभीषण को तो खुद रावण ने लात मारकर निकाला था।

शिवसेना को समझा कभी नाम महाकाल का और काम भौकाल का।
खुद जो कैलाश पर रहता है सबको अन्न धन से संपन्न करता है।
जब मनुष्य का अहंकार बढ़ जाता है तब यही कुदरत कोई करिश्मा करके उसके अहंकार को तोड़ती है।
उद्धव आंसू क्यूं बहाते है, क्या थे और खुद को क्या दिखाते है।
भरोसा तुम इंसान पर करते हो बस यही बहुत बड़ी गलती करते हो।
तुम खुद को इतना मजबूत करते की तुम्हारे खिलाफ कोई बगावत करने से पहले सोचता।
वो बगावत किया नहीं तुमने आग भड़काई है।
जो थे सब हरे गीले तुमने उसमे आग लगाई है।
एकनाथ शिंदे इतिहास नाम को पुकारेगा।
विभीषण ने बाद इनका उदाहरण दिया जाएगा।
निर्दलीय भी इनके पक्ष हुए उद्धव अपने ही हाथों परास्त हुए।

जाओ अब एक सीख लेना उसे अपने यहां कभी भी पनाह मत देना जो तुम्हारे ही घर में रहकर उसे दीमक की तरह खाकर खोखला कर दें।

उद्धव आदित्य चारो खानो चित्त।

53 Views
You may also like:
नहीं रहे "कहो न प्यार है" के गीतकार व हरदिल...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
बुद्ध भगवान की शिक्षाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तब मुझसे मत करना कोई सवाल तुम
gurudeenverma198
✍️फासले थे✍️
'अशांत' शेखर
#udhas#alone#aloneboy#brokenheart
Dalveer Singh
✍️जेरो-ओ-जबर हो गये✍️
'अशांत' शेखर
माँ
Dr. Meenakshi Sharma
आसान नहीं होता है पिता बन पाना
Poetry By Satendra
ख़्वाब सारे तो
Dr fauzia Naseem shad
धर्म निरपेक्ष चश्मा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️✍️यज़दान✍️✍️
'अशांत' शेखर
मेरे दिल का दर्द
Ram Krishan Rastogi
*जन्मा पाकिस्तान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
आकाश
AMRESH KUMAR VERMA
लो अब निषादराज का भी रामलोक गमन
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मेरे कच्चे मकान की खपरैल
Umesh Kumar Sharma
“सावधान व्हाट्सप्प मित्र ”
DrLakshman Jha Parimal
तुझे देखा तो...
Dr. Meenakshi Sharma
तुम गैर कबसे हो गए ?...
ओनिका सेतिया 'अनु '
इतना तय है
Dr fauzia Naseem shad
सोचो जो बेटी ना होती
लक्ष्मी सिंह
💐💐वासुदेव: सर्वम्💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
खफा है जिन्दगी
Anamika Singh
काँटों का दामन हँस के पकड़ लो
VINOD KUMAR CHAUHAN
दुआ पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
मय है मीना है साकी नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
सुरज दादा
Anamika Singh
एक मुद्दत से।
Taj Mohammad
अभागीन ममता
ओनिका सेतिया 'अनु '
इक दिल के दो टुकड़े
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
Loading...