#11 Trending Author
Sep 15, 2021 · 1 min read

बहुमत

बहुमत
°°°°°
बुराई ने अच्छाई से कहा कि,
अनसोशल मत बनो,
लोकतंत्र में मेरी ही बहुमत है,
मैं सोशल हूँ,
मेरी जमात में शामिल हो जाओ,
और सामाजिक न्याय का,
नारा बुलंद करो,
मेरा विरोध तेरे हित में नहीं है,
मैं हूँ कलियुग का रावण,
तेरी निष्ठा का कर लूंगा हरण।
यहाँ राजपाठ सब चलता है,
बहुमत के हिसाब से,
देख लो,_
आजादी के इतने दिनों बाद भी,
बहुसंख्यक आरक्षण के भ्रमजाल में मोहित है,
और अल्पसंख्यक बस मदरसा ज्ञान में हर्षित है।
आजादी तो मिली सन सैंतालिस में ही,
लेकिन समान शिक्षा, समान नागरिक कानून,
बहुमत के हिसाब से फिट नहीं बैठी ,
इस बहुमत के खेल में बस पिसती जनता,
सारी सुख-सुविधाओं से वंचित हुई ,
बहुमत की चाह लिए दिल में,
एक दल दूसरे को कोस रहा,
दोनों के गांठे बंधे ऊपर,
सत्य क्यों है आज दम तोड़ रहा,
इसलिए तुमसे, मैंने ये अर्ज़ किया है,
मेरी जमात में आ जाओ,
अच्छे- बुरे का भेद छोड़ो,
बहुमत का दिल बहला जाओ।

मौलिक एवं स्वरचित
सर्वाधिकार सुरक्षित
© ® मनोज कुमार कर्ण
कटिहार ( बिहार )
तिथि -१५ /०९/२०२१
मोबाइल न. – 8757227201

7 Likes · 8 Comments · 759 Views
You may also like:
सच
अंजनीत निज्जर
💐प्रेम की राह पर-32💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
एक दिन यह समझ आना है।
Taj Mohammad
हमारी ग़ज़लों पर झूमीं जाती है
Vinit Singh
पानी
Vikas Sharma'Shivaaya'
Little sister
Buddha Prakash
आप कौन है
Sandeep Albela
बाबा ब्याह ना देना,,,
Taj Mohammad
बाबासाहेब 'अंबेडकर '
Buddha Prakash
क्यों ना नये अनुभवों को अब साथ करें?
Manisha Manjari
पिता के चरणों को नमन ।
Buddha Prakash
# पिता ...
Chinta netam मन
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग२]
Anamika Singh
खुद को तुम पहचानों नारी ( भाग १)
Anamika Singh
आपके जाने के बाद
pradeep nagarwal
तुम्हारी चाय की प्याली / लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
प्रकाशित हो मिल गया, स्वाधीनता के घाम से
Pt. Brajesh Kumar Nayak
!! ये पत्थर नहीं दिल है मेरा !!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
बचपन
Anamika Singh
जीवन में ही सहे जाते हैं ।
Buddha Prakash
ग्रीष्म ऋतु भाग २
Vishnu Prasad 'panchotiya'
इशारो ही इशारो से...😊👌
N.ksahu0007@writer
"महेनत की रोटी"
Dr. Alpa H.
लाल टोपी
मनोज कर्ण
पापा वो बचपन के
Khushboo Khatoon
पिता एक सूरज
डॉ. शिव लहरी
ऐसे थे मेरे पिता
Minal Aggarwal
प्रकृति का अंदाज.....
Dr. Alpa H.
"सुनो एक सैर पर चलते है"
Lohit Tamta
Loading...