Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Sep 2021 · 1 min read

बहुमत

बहुमत
°°°°°
बुराई ने अच्छाई से कहा कि,
अनसोशल मत बनो,
लोकतंत्र में मेरी ही बहुमत है,
मैं सोशल हूँ,
मेरी जमात में शामिल हो जाओ,
और सामाजिक न्याय का,
नारा बुलंद करो,
मेरा विरोध तेरे हित में नहीं है,
मैं हूँ कलियुग का रावण,
तेरी निष्ठा का कर लूंगा हरण।
यहाँ राजपाठ सब चलता है,
बहुमत के हिसाब से,
देख लो,_
आजादी के इतने दिनों बाद भी,
बहुसंख्यक आरक्षण के भ्रमजाल में मोहित है,
और अल्पसंख्यक बस मदरसा ज्ञान में हर्षित है।
आजादी तो मिली सन सैंतालिस में ही,
लेकिन समान शिक्षा, समान नागरिक कानून,
बहुमत के हिसाब से फिट नहीं बैठी ,
इस बहुमत के खेल में बस पिसती जनता,
सारी सुख-सुविधाओं से वंचित हुई ,
बहुमत की चाह लिए दिल में,
एक दल दूसरे को कोस रहा,
दोनों के गांठे बंधे ऊपर,
सत्य क्यों है आज दम तोड़ रहा,
इसलिए तुमसे, मैंने ये अर्ज़ किया है,
मेरी जमात में आ जाओ,
अच्छे- बुरे का भेद छोड़ो,
बहुमत का दिल बहला जाओ।

मौलिक एवं स्वरचित
सर्वाधिकार सुरक्षित
© ® मनोज कुमार कर्ण
कटिहार ( बिहार )
तिथि -१५ /०९/२०२१
मोबाइल न. – 8757227201

Language: Hindi
Tag: कविता
9 Likes · 10 Comments · 961 Views
You may also like:
उसकी मासूमियत
VINOD KUMAR CHAUHAN
पापा
Nitu Sah
वक्त।
Taj Mohammad
- "इतिहास ख़ुद रचना होगा"-
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
अब सुप्त पड़ी मन की मुरली, यह जीवन मध्य फँसा...
संजीव शुक्ल 'सचिन'
मैथिलीमे चारिटा हाइकु
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
सफलता
Anamika Singh
*फहराऍं आज तिरंगा (देशभक्ति गीत)*
Ravi Prakash
आशिक रोना चाहता है ------------
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
मै लाल किले से तिरंगा बोल रहा हूं
Ram Krishan Rastogi
गुमनाम मुहब्बत का आशिक
श्री रमण 'श्रीपद्'
आ ख़्वाब बन के आजा
Dr fauzia Naseem shad
बेटी को जन्मदिन की बधाई
लक्ष्मी सिंह
यही आदत ही तो
gurudeenverma198
वफादारी
shabina. Naaz
रिश्तों की डोर
मनोज कर्ण
जब जब ही मैंने समझा आसान जिंदगी को
सत्य कुमार प्रेमी
✍️मैं कुदरत का बीज हूँ✍️
'अशांत' शेखर
आव्हान - तरुणावस्था में लिखी एक कविता
HindiPoems ByVivek
हिजाब विरोधी आंदोलन
Shekhar Chandra Mitra
हम भटकते है उन रास्तों पर जिनकी मंज़िल हमारी नही,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
'फौजी होना आसान नहीं होता"
Lohit Tamta
जल जीवन - जल प्रलय
Rj Anand Prajapati
कौन आएगा
Dhirendra Panchal
बाल विवाह
Utkarsh Dubey “Kokil”
अशांत मन
Mahender Singh Hans
जन्मों के प्यार का इंतजार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
पिता
Dr.Priya Soni Khare
पिता
Abhishek Pandey Abhi
'तकलीफ', नाकामयाबी सी
Seema 'Tu hai na'
Loading...