Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#20 Trending Author

बहुआयामी वात्सल्य दोहे

सब अभिभावक चाहते, घर में श्रवण कुमार
रात-दिवस सेवा करे, जब-जब हों बीमार //1.//

अपनाये संस्कार तो, भूलो मत इन्सान
जन्म मिले माँ बाप से, ऋणी रहे सन्तान //2.//

त्यागा पुत्र वियोग में, पिता ने जब शरीर
छलनी गहरे कर गया, लगा राम को तीर //3.//

धृतराष्ट्र बनो तुम नहीं, त्याग दो पुत्रमोह
वरना होगा झेलना, इक दिन पुत्र बिछोह //4.//

अवगुण में दुत्कारना, भूल गए हैं लोग
इसी लिए सन्तान में, आया है हठयोग //5.//

माँ की वो ममता रही, और पिता का प्यार
दोनों से मिलता रहा, हरदम प्यार-दुलार //6.//

बरसी है हरदम यहाँ, सदा नेह की धूप
मात-पिता ने विश्व को, दिया प्रेम का रूप //7.//

मात-पिता को मानिये, रब का ही अवतार
मोल न कोई कर सके, इतने हैं उपकार //8.//

बच्चे बिलखें भूख से, पिता रहा है काँप
डसने को आतुर खड़ा, महंगाई का साँप //9.//

महंगाई के प्रेत ने, किया लाल को मौन
मात-पिता हैरान हैं, उनको पूछे कौन //10.//

***

9 Likes · 22 Comments · 293 Views
You may also like:
पीयूष छंद-पिताजी का योगदान
asha0963
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग४]
Anamika Singh
झरने और कवि का वार्तालाप
Ram Krishan Rastogi
✍️मुझे कातिब बनाया✍️
"अशांत" शेखर
अपने मंजिल को पाऊँगा मैं
Utsav Kumar Aarya
मेरा ना कोई नसीब है।
Taj Mohammad
जीवन साथी
जगदीश लववंशी
नींबू के मन की वेदना
Ram Krishan Rastogi
नाम लेकर भुला रहा है
Vindhya Prakash Mishra
✍️अग्निपथ...अग्निपथ...✍️
"अशांत" शेखर
'पिता' संग बांटो बेहद प्यार....
Dr. Alpa H. Amin
प्यार करके।
Taj Mohammad
“ THANKS नहि श्रेष्ठ केँ प्रणाम करू “
DrLakshman Jha Parimal
काश मेरा बचपन फिर आता
Jyoti Khari
सेतुबंध रामेश्वर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️KITCHEN✍️
"अशांत" शेखर
जग का राजा सूर्य
Buddha Prakash
** तेरा बेमिसाल हुस्न **
DESH RAJ
दुआएं करेंगी असर धीरे- धीरे
Dr Archana Gupta
राह जो तकने लगे हैं by Vinit Singh Shayar
Vinit Singh
बुद्ध या बुद्धू
Priya Maithil
*अनुशासन के पर्याय अध्यापक श्री लाल सिंह जी : शत...
Ravi Prakash
कविता क्या है ?
Ram Krishan Rastogi
मेरी खुशी तुमसे है
VINOD KUMAR CHAUHAN
वेदना के अमर कवि श्री बहोरन सिंह वर्मा प्रवासी*
Ravi Prakash
पानी का दर्द
Anamika Singh
और कितना धैर्य धरू
Anamika Singh
सर रख कर रोए।
Taj Mohammad
दिया
Anamika Singh
ताला-चाबी
Buddha Prakash
Loading...