Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

बहनें!

गजल – बहनें

इस दुनिया में सबसे प्यारी है बहनें।
भाई के राखी की मोती है बहनें।

तेरे सिर में तरक्की का नशा चढ़ा है,
तू बड़ा है लेकिन, तुझसे बड़ी है बहने।

याद रहे हमको या न रहे वो फिर भी,
अपना सारा फ़र्ज़ निभाती है बहने।

पीछे नहीं किसी से तुम आकर देखो,
कंधे से कंधा मिला चलती है बहनें।

सबके किस्मत में नहीं है ऐसी खुशियाँ,
मन्नत करने से ही मिलती है बहनें।

पूछ लो किसी से भी सब यही कहेंगे,
प्यारी प्यारी राज दुलारी है बहनें।

इससे प्यारा , प्यार भरा बंधन नहीं है,
शुभम् के अशआरों से अच्छी है बहनें।

2 Comments · 152 Views
You may also like:
आ सजाऊँ भाल पर चंदन तरुण
Pt. Brajesh Kumar Nayak
पापा आपकी बहुत याद आती है !
Kuldeep mishra (KD)
महिला काव्य
AMRESH KUMAR VERMA
ज़िन्दगी की धूप...
Dr. Alpa H. Amin
जिन्दगी का मामला।
Taj Mohammad
हवस
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
मुकरियां_ गिलहरी
Manu Vashistha
बुजुर्गो की बात
AMRESH KUMAR VERMA
यह कौन सा विधान है
Vishnu Prasad 'panchotiya'
Even If I Ever Died
Manisha Manjari
# हमको नेता अब नवल मिले .....
Chinta netam " मन "
ભીની ભીની લાગણી.....
Dr. Alpa H. Amin
✍️प्रेम खेळ नाही बाहुल्यांचा✍️
"अशांत" शेखर
दुआ
Alok Saxena
नफरत की राजनीति...
मनोज कर्ण
💐सुरक्षा चक्र💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मत बना किसी को अपनी कमजोरी
Krishan Singh
!!! राम कथा काव्य !!!
जगदीश लववंशी
मौसम की पहली बारिश....
Dr. Alpa H. Amin
एहसासों के समंदर में।
Taj Mohammad
खड़ा बाँस का झुरमुट एक
Vishnu Prasad 'panchotiya'
प्रेम का आँगन
मनोज कर्ण
मोहब्बत में।
Taj Mohammad
हो दर्दे दिल तो हाले दिल सुनाया भी नहीं जाता।
सत्य कुमार प्रेमी
भगवान विरसा मुंडा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेरी राहे तेरी राहों से जुड़ी
Dr. Alpa H. Amin
अजीब कशमकश
Anjana Jain
तुमसे कोई शिकायत नही
Ram Krishan Rastogi
पितृ स्तुति
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
वक्त अब कलुआ के घर का ठौर है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...