Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

— बहकावे में मत आना —

अक्सर हम हिन्दू लोग
जल्द बहकावे में आ जाते हैं
सोचते समझते कुछ नही
दूसरे की बातों में खो जाते हैं !!

कष्ट किस को नही आते
हम हिन्दू जल्द बहक जाते हैं
लेकर जन्मपत्रिका हाथों में
पंडित के पास चले जाते हैं !!

मौके का फायदा सब उठाते
पंडित झांसे में ले फसाते हैं
आ गया बेवक़ूफ़ मेरे सामने
अनगिनत उपाय उस को बताते हैं !!

यह भी कर लो, वो भी कर लो
बताकर अपनी धनवर्षा बढाते हैं
सामने वाले के बस में है, कि नही
पर पंडित अपनी जेब भर जाते हैं !!

कहेगा पंडित मुझ को कोई लालच नही
पर आँख तुम्हारी जेब पर गड़ाते हैं
पंडित के एक एक मन्त्र की कीमत
हिन्दू होकर हम हिन्दू की जेब भर आते हैं !!

अजीत कुमार तलवार
मेरठ

1 Like · 2 Comments · 330 Views
You may also like:
भोले भंडारी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पत्थर दिल।
Taj Mohammad
अपना दिल
Dr fauzia Naseem shad
(स्वतंत्रता की रक्षा)
Prabhudayal Raniwal
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
श्री गंगा दशहरा द्वार पत्र (उत्तराखंड परंपरा )
श्याम सिंह बिष्ट
भरोसा नहीं रहा।
Anamika Singh
अना दिलों में सभी के....
अश्क चिरैयाकोटी
सावन आया
HindiPoems ByVivek
सरकारी नौकर
Dr Meenu Poonia
प्यारी मेरी बहना
Buddha Prakash
सीधे सीधे कहते हैं।
Taj Mohammad
बेपरवाह बचपन है।
Taj Mohammad
राती घाटी
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
मुस्ताकिल
DR ARUN KUMAR SHASTRI
देशभक्ति के पर्याय वीर सावरकर
Ravi Prakash
गाऊँ तेरी महिमा का गान (हरिशयन एकादशी विशेष)
श्री रमण 'श्रीपद्'
मानव तू हाड़ मांस का।
Taj Mohammad
थक चुकी हूं मैं
Shriyansh Gupta
हर घर तिरंगा
Dr Archana Gupta
ज़िंदगी पर भारी
Dr fauzia Naseem shad
** भावप्रतिभाव **
Dr.Alpa Amin
आज़ादी का अमृत महोत्सव
बिमल तिवारी आत्मबोध
# क्रांति का वो दौर
Seema Tuhaina
✍️वो क्यूँ जला करे.?✍️
'अशांत' शेखर
बचपन भी कहीं खो गया है।
Taj Mohammad
रे मेघा तुझको क्या गरज थी
kumar Deepak "Mani"
हमदर्द हो जो सबका मददगार चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
✍️गुलिस्ताँ सरज़मी के बंदिश में है✍️
'अशांत' शेखर
अच्छा किया तुमने।
Taj Mohammad
Loading...