Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings

बलिदान शहीदों का बेकार नहीं होगा

हर बार हुआ जो भी इस बार नहीं होगा
बलिदान शहीदों का बेकार नहीं होगा।1।

जब तक बाहुबल का व्यवहार नहीं होगा
हो चीज भले अपनी,अधिकार नहीं होगा।2।

उनींदे शेरों को; उकसाते हो, सताते हो
गद्दार कोई भी हो, स्वीकार नहीं होगा।3।

तकरीरें नहीं करनी,तकरार नहीं करना
नापाक हरकतों पे एतबार नहीं होगा।4।

मित्र-बंधु सा रहता, ऐतराज़ नहीं कोई
पीठ पे करे वो वार, स्वीकार नहीं होगा।5।

चंद लोग हमारे थे, जिन्हें था यकीं कमतर
सरकार भरोसे की, वो लाचार नहीं होगा।6।

हिन्द की सेना ने घर में घुस प्रहार किया
समझदार पड़ोसी हो, तो राड़ नहीं होगा।7।

इस पार हो जाए या उस पार ही हो जाए
अब ताशकंद जैसा, मझधार नहीं होगा।8।

-आनंद बिहारी, चंडीगढ़
29.09.2016
WhatsApp:9878115857

3 Comments · 627 Views
You may also like:
जीवन एक कारखाना है /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
#पूज्य पिता जी
आर.एस. 'प्रीतम'
# पिता ...
Chinta netam " मन "
गरम हुई तासीर दही की / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
गाँव की साँझ / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
ओ मेरे साथी ! देखो
Anamika Singh
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
माँ की याद
Meenakshi Nagar
गुमनाम मुहब्बत का आशिक
श्री रमण 'श्रीपद्'
पिता अब बुढाने लगे है
n_upadhye
संघर्ष
Sushil chauhan
पिता
Pt. Brajesh Kumar Nayak
पितृ वंदना
मनोज कर्ण
कैसे मैं याद करूं
Anamika Singh
कोई हमदर्द हो गरीबी का
Dr fauzia Naseem shad
फेसबुक की दुनिया
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अपनी आदत में
Dr fauzia Naseem shad
दामन भी अपना
Dr fauzia Naseem shad
"मेरे पिता"
vikkychandel90 विक्की चंदेल (साहिब)
इस तरह
Dr fauzia Naseem shad
सुन्दर घर
Buddha Prakash
✍️लक्ष्य ✍️
Vaishnavi Gupta
ईश्वरतत्वीय वरदान"पिता"
Archana Shukla "Abhidha"
रिश्तों में बढ रही है दुरियाँ
Anamika Singh
मेरे पापा
Anamika Singh
पाँव में छाले पड़े हैं....
डॉ.सीमा अग्रवाल
✍️बचपन का ज़माना ✍️
Vaishnavi Gupta
जितनी मीठी ज़ुबान रक्खेंगे
Dr fauzia Naseem shad
प्यार
Anamika Singh
भूखे पेट न सोए कोई ।
Buddha Prakash
Loading...