Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

बरसे श्याम बदरिया

चम-चम चमके गड़-गड़ गरजे बिजुरिया
सावन आया बरसे श्याम बदरिया
मिट्टी से सोंधी-सोंधी खुश्बू आई
धरती ओढी मखमल हरित चुनरिया

खुशहाली चहुँओर नवरंग- नव जीवन
किसानों का मन पुलकित आया सावन
मस्त चले पुर्वईया, जोर में है नदिया
पंछियों की कलरव से गुंजित मही- गगन

गुपचुप नज़ारे गीली -गीली रातें हैं
सावन सजनी कारे-कारे हैं बदरा
झीनी-झीनी बरसात मयूरा मन
मन मोहित चहुँओर सुनहरा-सुनहरा

कुसुम कलिकायें में आई नई जोबन
विटप लतिकायें का है सुंदर आवरण
विविध पंछियों की है मधुर पंचम स्वर
धरती रानी ने की दुल्हन रुप धारण

कागज की नाव चलाकर बच्चे मगन
मिली खुशियाँ विभोर है अन्तर्मन
अलबेला मौसम श्याम गीले बादल
पलपल प्रकृति कलिका मौसम चंचल

गुडियां रानी नाच रही छमक-छम
रिमझिम बारिश वन में नाचे मोर
आओं सखी झूले सावन का झूला
आयेगा आज रे ब्रिज के नंदकिशोर

रचनाकार:- दुष्यंत कुमार पटेल “चित्रांश”

407 Views
You may also like:
पिता
Ram Krishan Rastogi
आपसा हम जो दिल
Dr fauzia Naseem shad
पहनते है चरण पादुकाएं ।
Buddha Prakash
तुम्हीं हो मां
Krishan Singh
इश्क
Anamika Singh
गर्म साँसें,जल रहा मन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मेरे पापा
Anamika Singh
ठोडे का खेल
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कोई खामोशियां नहीं सुनता
Dr fauzia Naseem shad
मै पैसा हूं दोस्तो मेरे रूप बने है अनेक
Ram Krishan Rastogi
✍️ईश्वर का साथ ✍️
Vaishnavi Gupta
कर्म का मर्म
Pooja Singh
"याद आओगे"
Ajit Kumar "Karn"
मर्द को भी दर्द होता है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
यादों की बारिश का कोई
Dr fauzia Naseem shad
पिता
Dr.Priya Soni Khare
माँ की भोर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कौन था वो ?...
मनोज कर्ण
ख़्वाहिशें बे'लिबास थी
Dr fauzia Naseem shad
श्री राम स्तुति
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता
Satpallm1978 Chauhan
✍️गलतफहमियां ✍️
Vaishnavi Gupta
आज तन्हा है हर कोई
Anamika Singh
श्रेय एवं प्रेय मार्ग
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गाऊँ तेरी महिमा का गान (हरिशयन एकादशी विशेष)
श्री रमण 'श्रीपद्'
पितृ-दिवस / (समसामायिक नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जीवन की दुर्दशा
Dr fauzia Naseem shad
जिन्दगी का सफर
Anamika Singh
हम तुमसे जब मिल नहीं पाते
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
इश्क कोई बुरी बात नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...