Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 16, 2021 · 1 min read

बरसात

बारिश आई पहली बौछार,
मन में समाई बनकर प्यार।
मोर पपीहा गीत गाए,
मन हमार गाए मलहार।।

मधुमास का महिना आया,
जिया न लागे हमार।
देश हित में करे नौकरिया
सीमा पर हैं पिया हमार।।

बारिश की बूँदें झर झर आए
मन में शीतलता भर जाए ।
बाग बगीचा हरे भरे लहराए
मन खुशियों से बौ राए।।

धरती भी जल से तर होगई
बहे खुशियों की बहार।
गेहुएँ बदन से महकने लगी
इत्र की सौंधी सौंधी बयार।।

अरे !सूरज दादा क्यों नहीं
आए आज घर से बाहर।
तुम्हारी लाली से ही तो
सजती “आभा “जग मुख पर।।

हाय कितना सुंदर है संसार
उस पर प्रकृति के गुण हजार।
हाय भगवान तुम कैसे सजाते
मंत्रमुग्ध हम देखते सुंदर नजारे।।

2 Likes · 1 Comment · 217 Views
You may also like:
नज़रे उठाके देख लो।
Taj Mohammad
दुनिया जवाब पूछेगी
Swami Ganganiya
✍️साबिक़-दस्तूर✍️
'अशांत' शेखर
" राज "
Dr Meenu Poonia
पिता
कुमार अविनाश केसर
Heart Wishes For The Wave.
Manisha Manjari
हवाई जहाज
Buddha Prakash
काश ! तेरी निगाह मेरे से मिल जाती
Ram Krishan Rastogi
सहज बने गह ज्ञान,वही तो सच्चा हीरा है ।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
होली कान्हा संग
Kanchan Khanna
तमाम उम्र।
Taj Mohammad
"मौन "
DrLakshman Jha Parimal
✍️दफ़न हो गया✍️
'अशांत' शेखर
पत्थर के भगवान
Ashish Kumar
पिता पच्चीसी दोहावली
Subhash Singhai
शून्य की महिमा
मनोज कर्ण
✍️मन की बात✍️
'अशांत' शेखर
समय भी कुछ तो कहता है
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
हमने वफ़ा निभाई है।
Taj Mohammad
ज़िंदगी देती।है
Dr fauzia Naseem shad
तुम न आये मगर..
लक्ष्मी सिंह
#दोहे #अवधेश_के_दोहे
Awadhesh Saxena
✍️✍️रंग✍️✍️
'अशांत' शेखर
ख़ुद ही हालात समझने की नज़र देता है,
Aditya Shivpuri
रमेश छंद "नन्ही गौरैया"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
अपना दिल
Dr fauzia Naseem shad
मुस्कुराएं सदा
Saraswati Bajpai
पिता के होते कितने ही रूप।
Taj Mohammad
सफ़र में छाया बनकर।
Taj Mohammad
*हम आजाद होकर रहेंगे (कहानी)*
Ravi Prakash
Loading...