Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 15, 2021 · 1 min read

बरसात

किससे कहूँ जग में

व्यथा अपने ह्रदय की

और किस अज़ीज़ पर

यकीन करूं अब मैं

मौन निमंत्रण

भेजा जब भी

ठुकराया जग में

उतनी ही बार गया !

जीवन की बरसात में

बिन अपनों के साथ से

खिलते उपवन में ही

हुए पत्ते सब पीले

अपनों की खातिर

उन दरख्तों ने ही

पतझड में खुद से

जुदा कर दिया !

गलती कर बैठे

जो खुद को कर दिया

जीवन में राख

अपनों की खातिर

दुश्मन की तलाश

अब तो की जाए

अपनों की बेरुखी से

मन भर चला है !

काँटों की तरह हुआ

इश्क में साथ तेरा

बख्शी है इज्ज़त तुम्हे

नजरों में अपनी लेना

परख इक बार कि

हक किसने दिया था

सनम इस जहां में तुझे

रूह्कशी का हमारी !

अक्स की तसदीक है

बमुश्किल आज के दौर में

खुशियों की बरसात

पराए भी ज़िन्दगी में

अक्सर कर जाते हैं

जबकि अजीज़ रहते मशगूल

बिसात काँटों की

हरपल बिछाने में !

: मुनीष भाटिया

585 स्वस्तिक विहार, जीरकपुर, चंडीगढ़ I
9416457695

munishbhatia122@gmail.com

3 Likes · 1 Comment · 170 Views
You may also like:
✍️स्त्री : दोन बाजु✍️
'अशांत' शेखर
पिता बना हूं।
Taj Mohammad
स्वर कोकिला लता
RAFI ARUN GAUTAM
तरबूज का हाल
श्री रमण 'श्रीपद्'
क्यों भूख से रोटी का रिश्ता
Dr fauzia Naseem shad
महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन
Ram Krishan Rastogi
हैं सितारे खूब, सूरज दूसरा उगता नहीं।
सत्य कुमार प्रेमी
फास्ट फूड
Utsav Kumar Aarya
आवत हिय हरषै नहीं नैनन नहीं स्नेह।
sheelasingh19544 Sheela Singh
धर्म निरपेक्ष चश्मा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गम तारी है।
Taj Mohammad
खेसारी लाल बानी
Ranjeet Kumar
पारिवारिक बंधन
AMRESH KUMAR VERMA
आया है प्यारा सावन
Dr Archana Gupta
माँ
सूर्यकांत द्विवेदी
मत करना
dks.lhp
ये कैंसी अभिव्यक्ति है, ये कैसी आज़ादी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तेरा जां निसार।
Taj Mohammad
"मैं फ़िर से फ़ौजी कहलाऊँगा"
Lohit Tamta
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
"सुनो एक सैर पर चलते है"
Lohit Tamta
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग३]
Anamika Singh
गर बुरा लगता हूं।
Taj Mohammad
प्रदीप : श्री दिवाकर राही का हिंदी साप्ताहिक
Ravi Prakash
बुरा तो ना मानोगी।
Taj Mohammad
💐 निर्गुणी नर निगोड़ा 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
विचार
Vishnu Prasad 'panchotiya'
कलयुग का आरम्भ है।
Taj Mohammad
फिर झूम के आया सावन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
मुझको रूलाया है।
Taj Mohammad
Loading...