Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

बरसात बनके रंग हरा दे गया कोई

ग़ज़ल – “बरसात बनके”

चुपके से मेरे दिल को सदा दे गया कोई।
नज़रों से ही पयामे वफ़ा दे गया कोई।।

मुरझा गया था दिल का चमन सख्त धूप में।
बरसात बन के रंग हरा दे गया कोई।।

अय दोस्त तेरी याद ही जीने का सहारा।
तारीकियों में मुझको ज़िया दे गया कोई।।

हर वक़्त खुमारी सी है हर पल है बेखुदी।
मुझको ये जागने की सज़ा दे गया कोई।।

“राना” नसीब मुझ पे हुआ मिहिरवान तो।
उम्मीद से भी ज़्यादा मज़ा दे गया कोई।।

***

© राजीव नामदेव “राना लिधौरी”,टीकमगढ़
संपादक “आकांक्षा” पत्रिका
जिलाध्यक्ष म.प्र. लेखक संघ टीकमगढ़
अध्यक्ष वनमाली सृजन केन्द्र टीकमगढ़
नई चर्च के पीछे, शिवनगर कालोनी,
टीकमगढ़ (मप्र)-472001भारत
मोबाइल- 9893520965
Email – ranalidhori@gmail.com
Blog-rajeevranalidhori.blogspot.com

1 Like · 3 Comments · 158 Views
You may also like:
अर्धनारीश्वर की अवधारणा...?
मनोज कर्ण
✍️वो मील का पत्थर....!
'अशांत' शेखर
सच
Vikas Sharma'Shivaaya'
कोई हमदर्द हो गरीबी का
Dr fauzia Naseem shad
✍️एक फ़रियाद..✍️
'अशांत' शेखर
बे'एतबार से मौसम की
Dr fauzia Naseem shad
कलयुग का आरम्भ है।
Taj Mohammad
पढ़ाई-लिखाई एक बोझ
AMRESH KUMAR VERMA
शुभचिंतक, एक बहन
Dr.sima
गुज़रते कैसे हैं ये माह ओ साल मत पूछो
Anis Shah
*राजा राम सिंह : रामपुर और मुरादाबाद के पितामह*
Ravi Prakash
हमें जाँ से प्यारा हमारा वतन है..
अश्क चिरैयाकोटी
मौसम
AMRESH KUMAR VERMA
The Magical Darkness
Manisha Manjari
जगत जननी है भारत …..
Mahesh Ojha
जहाँ तुम रहती हो
Sidhant Sharma
जोकर vs कठपुतली ~02
bhandari lokesh
*देखने लायक नैनीताल (गीत)*
Ravi Prakash
🌺प्रेम की राह पर-54🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ये खुशी
Anamika Singh
मोहब्बत का समन्दर।
Taj Mohammad
गीत - मैं अकेला दीप हूं
Shivkumar Bilagrami
जो किसी से ख़फ़ा
Dr fauzia Naseem shad
गरीब आदमी।
Taj Mohammad
ठाकरे को ठोकर
Rj Anand Prajapati
रजनी कजरारी
Dr Meenu Poonia
तिलका छंद "युद्ध"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
# क्रांति का वो दौर
Seema 'Tu haina'
पति पत्नी की नोक झोंक(हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
Loading...