Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#1 Trending Author
May 2, 2022 · 2 min read

बदल रहा है देश मेरा

बदल रहा है देश मेरा,
मिल रहा विदेशों से सम्मान।
भारतीय होने पर मुझको
हो रहा है बड़ा अभिमान।

अब हमारे देश को किसी की
पहचान की जरूरत नहीं है।
अब विदेशो में भी हो रहा
हमारे देश का बड़ा नाम है।

सुख समृद्धि से भर रहा ,
हो रहा देश का विकास है।
अब विकासशील देशों में
हमारा सबसे ऊँचा नाम है ।

अब तिरंगे को देखकर ,
सब अदब से सर झुका लेते है।
विदेशो में भी बढ़ रहा अब,
हमारे तिरंगे की शान है।

अब हमारा देश अपना
आत्म निर्भर हो रहा है।
इस बात पर हमें आज
अत्यधिक गर्व हो रहा है।

अब हमारा देश अपना
परिचय का मोहताज नहीं है
अब हम खेल कूद मै भी ,
किसी से पीछे रह नही गये है।

अब हमने विज्ञान के क्षेत्र में भी ,
अपना नाम बना लिया।
धरती से आसमान को,
हमने भी तो भेद दिया है।

अब हमने भी आसमान में ,
अपने देश का नाम लिख दिया है।
और धरती पर भी तो हमने,
अपने विज्ञान का विस्तार किया है।

अब ज्ञान शक्ति से भी हमें
मिल रहा बहुत सम्मान है।
हमने ज्ञान के क्षेत्र में भी
सबको टक्कर दे दिया है।

अब हम ज्ञान के पथ पर
आगे ही आगे बढते जा रहे है।
अब हम ज्ञान ले रहे,
और ज्ञान बाट रहे है।

अब कहाँ हम किसी से
पीछे रह गये है।
अब हम भी सब के मदद के लिए
अपना हाथ बढा रहे है।

विदेशी के जगह स्वदेशी
समान बनाकर देश की
हाथ बँटा रहे।
देश को ऊपर ले जाने के लिए
जन-जन अपना योगदान दे रहै है ।

सैन्य शक्ति मैं भी हमने
अपना वर्चस्व बनाया है।
जल थल नभ में हमने भी
अपना परचम लहराया है।

अब हमने अपने देश में भी
कई तरह स्वेदेशी हथियार बनाने लगे ।
अब हर एक क्षेत्र हमारा
मजबूत हो रहा है।

अब स्वच्छ सुन्दर भारत
का निर्माण हो रहा है,
स्वच्छता मे एक- एक जन का ,
अब योगदान हो रहा है।

बदल रही है सड़कें अब
बदल रहा है गाँव ।
आ रही खुशियाली अब
हर शहर- शहर, हर गाँव।

~अनामिका

4 Likes · 5 Comments · 81 Views
You may also like:
जाने क्यों वो सहमी सी ?
Saraswati Bajpai
मैं आज की बेटी हूं।
Taj Mohammad
डॉक्टर की दवाई
Buddha Prakash
आसान नहीं हैं "माँ" बनना...
Dr. Alpa H. Amin
बादल को पाती लिखी
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
गर्मी का रेखा-गणित / (समकालीन नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
रूह को कैसे सजाओगे।
Taj Mohammad
लिखे आज तक
सिद्धार्थ गोरखपुरी
इश्क़ में क्या हार-जीत
N.ksahu0007@writer
💐💐प्रेम की राह पर-12💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इश्क था मेरा।
Taj Mohammad
वर्तमान परिवेश और बच्चों का भविष्य
Mahender Singh Hans
बेचारी ये जनता
शेख़ जाफ़र खान
निभाता चला गया
वीर कुमार जैन 'अकेला'
मां ‌धरती
AMRESH KUMAR VERMA
दुनिया
Rashmi Sanjay
तमन्नाओं का संसार
DESH RAJ
Human Brain
Buddha Prakash
भारत भाषा हिन्दी
शेख़ जाफ़र खान
हम आजाद पंछी
Anamika Singh
अश्रु देकर खुद दिल बहलाऊं अरे मैं ऐसा इंसान नहीं
VINOD KUMAR CHAUHAN
मैं भारत हूँ
Dr. Sunita Singh
सम्मान की निर्वस्त्रता
Manisha Manjari
आकाश
AMRESH KUMAR VERMA
आदमी आदमी से डरने लगा है
VINOD KUMAR CHAUHAN
चंद सांसे अभी बाकी है
Arjun Chauhan
चौंक पड़ती हैं सदियाॅं..
Rashmi Sanjay
Love Heart
Buddha Prakash
प्रणाम नमस्ते अभिवादन....
Dr. Alpa H. Amin
कवि
Vijaykumar Gundal
Loading...