Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

” —————————————————— बदले से पल छिन हैं ” !!

रची बसी साँसों में हिंदी , हर दिल की धड़कन है !
हिन्द देश के हम रहवासी , हिंदी जीवन धन है !!

हिन्दी घुट्टी में मिलती है , साथ चले अंग्रेजी !
हिन्दी अंगीकार करें तो , शिक्षण ज्यों चन्दन है !!

हम पिछड़े थे हुये अग्रणी , हिन्दी की माया है !
हिन्दी भाषी चढ़े शिखर अब , आया परिवर्तन है !!

सबने दिल से अपनाया है , अवलम्बन ना छूटा !
अंग्रेजी अब बनी सहायक , बदले से पल छिन हैं !!

बड़ी जरूरत हमें अभी हैं , विशेषज्ञ हम चाहें !
भाषा का जादू छायेगा , आने वाले दिन हैं !!

बृज व्यास

303 Views
You may also like:
ऐसे थे पापा मेरे !
Kuldeep mishra (KD)
"अष्टांग योग"
पंकज कुमार कर्ण
कभी ज़मीन कभी आसमान.....
अश्क चिरैयाकोटी
ये कैसा धर्मयुद्ध है केशव (युधिष्ठर संताप )
VINOD KUMAR CHAUHAN
ठोकर खाया हूँ
Anamika Singh
दिल में रब का अगर
Dr fauzia Naseem shad
प्रेम में त्याग
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता आदर्श नायक हमारे
Buddha Prakash
ग़ज़ल /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मेरी उम्मीद
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ऐ मातृभूमि ! तुम्हें शत-शत नमन
Anamika Singh
अपने दिल को ही
Dr fauzia Naseem shad
सुन्दर घर
Buddha Prakash
मैं कुछ कहना चाहता हूं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
सत्यमंथन
मनोज कर्ण
"वो पिता मेरे, मै बेटी उनकी"
रीतू सिंह
नदी की पपड़ी उखड़ी / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कूड़े के ढेर में भी
Dr fauzia Naseem shad
बुआ आई
राजेश 'ललित'
रावण का प्रश्न
Anamika Singh
बेरूखी
Anamika Singh
ये बारिश का मौसम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बेचारी ये जनता
शेख़ जाफ़र खान
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
Dr Archana Gupta
ख़्वाब आंखों के
Dr fauzia Naseem shad
आंसूओं की नमी
Dr fauzia Naseem shad
पिता
Mamta Rani
संत की महिमा
Buddha Prakash
उसकी मर्ज़ी का
Dr fauzia Naseem shad
मेरे पिता है प्यारे पिता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
Loading...