Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 13, 2021 · 1 min read

बदनामी

तू डरता क्यों है बदनामी से
बदनाम होने से भी तेरा नाम हुआ है ना
पर बुरा होना हो तो रावण सा होना
राम छुड़ाते रहे पर नाम अभी तक जुड़ा है ना
और अब तो बुरा होना बुरा रहा है नही
नेकी नौ कोस बदी सौ कोस तो सुना है ना

1 Like · 281 Views
You may also like:
ईद
Khushboo Khatoon
जवाब दो
shabina. Naaz
धरती से मिलने को बादल जब भी रोने लग गया।
सत्य कुमार प्रेमी
मुक्तक- उनकी बदौलत ही...
आकाश महेशपुरी
इंतजार मत करना
Rakesh Pathak Kathara
मेरे भईया हमेशा सलामत रहें
Dr fauzia Naseem shad
मेरी हस्ती
Anamika Singh
Dear Mango...!!
Kanchan Khanna
कहता है ये दिल मेरा,
Vaishnavi Gupta
इन्सान
Seema 'Tu haina'
'हरि नाम सुमर' (डमरू घनाक्षरी)
Godambari Negi
“ मिलकर सबके साथ चलो “
DrLakshman Jha Parimal
गीत
शेख़ जाफ़र खान
-जीवनसाथी -
bharat gehlot
अब सुप्त पड़ी मन की मुरली, यह जीवन मध्य फँसा...
संजीव शुक्ल 'सचिन'
एक सोच ऐसी रखों जो बदल दे ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
ठोकरों ने गिराया ऐसा, कि चलना सीखा दिया।
Manisha Manjari
दर्द और विश्वास
Anamika Singh
सूरज से मनुहार (ग्रीष्म-गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अब जो बिछड़े तो
Dr fauzia Naseem shad
कोई हमदर्द हो गरीबी का
Dr fauzia Naseem shad
राजनीति ओछी है लोकतंत्र आहत हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
आद्य पत्रकार हैं नारद जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
चाँद और चाँदनी का मिलन
Anamika Singh
✍️हम भी कुछ थे✍️
'अशांत' शेखर
लाख मिन्नते मांगी ......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
चलो दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
शोर मचाने वाले गिरोह
Anamika Singh
खुदा ने जो दे दिया।
Taj Mohammad
Accept the mistake
Buddha Prakash
Loading...