Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#1 Trending Author
May 22, 2022 · 1 min read

बताओ तो जाने

जो कल थी,पर आज नही रहेगी,
जो आज हैं, पर कल नही रहेगी।
जो कल आयेगी वह परसो न आयेगी,
पर दीवार पर टंगी सब घर मिल जायेगी।

टर टर करे मेढ़क की आवाज सुनावे
पर उसका नाम कोई न मुझको बतावे।
खाते रोज उन्ही को फिर भी नाम न बतावे,
तीन चीजे है हमारी जिनमे हरेक में टर आवे।।

लड़के लड़की दोनो रखे नाम है एक समान,
साइज उनको देखो तो होते नही एक समान।
बतलाओ तुम जल्दी से उसका क्या है नाम।।
हर जुबान पर आता रहता इसका सही नाम।।

खाते भी उसी फल को,
पीते भी उसी फल को।
जो इसका नाम सही बतावे
उसको मिलेगा एक इनाम।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

6 Likes · 6 Comments · 86 Views
You may also like:
themetics of love
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Sweet Chocolate
Buddha Prakash
"मैंने दिल तुझको दिया"
Ajit Kumar "Karn"
बताकर अपना गम।
Taj Mohammad
बुढ़ापे में जीने के गुरु मंत्र
Ram Krishan Rastogi
घुतिवान- ए- मनुज
AMRESH KUMAR VERMA
✍️"बारिश भी अक्सर भुख छीन लेती है"✍️
"अशांत" शेखर
"जीवन"
Archana Shukla "Abhidha"
मोहब्बत
Kanchan sarda Malu
“ पगडंडी का बालक ”
DESH RAJ
नजर तो मुझको यही आ रहा है
gurudeenverma198
मेरे दिल का दर्द
Ram Krishan Rastogi
कातिलाना अदा है।
Taj Mohammad
【19】 मधुमक्खी
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कहानियां
Alok Saxena
उबारो हे शंकर !
Shailendra Aseem
ऊपज
Mahender Singh Hans
आदर्श ग्राम्य
Tnmy R Shandily
✍️एक चूक...!✍️
"अशांत" शेखर
जाने कैसी कैद
Saraswati Bajpai
अजी मोहब्बत है।
Taj Mohammad
विश्व हास्य दिवस
Dr Archana Gupta
पुस्तकें
डॉ. शिव लहरी
मयंक के जन्मदिन पर बधाई
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
.....उनके लिए मैं कितना लिखूं?
ऋचा त्रिपाठी
विधाता स्वरूप पिता
AMRESH KUMAR VERMA
बेवफाओं के शहर में कुछ वफ़ा कर जाऊं
Ram Krishan Rastogi
सुबह
AMRESH KUMAR VERMA
बहुत घूमा हूं।
Taj Mohammad
Loading...