Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 17, 2022 · 1 min read

बच्चों को खूब लुभाते आम

खट्टे मीठे पीले आम
कितने हैं रसीले आम
सभी फलों के राजा हैं
सबसे ऊँची इनकी शान

आई गर्मी लेकर आम
सूझा ना कोई और काम
आम तोड़ने की हुई तैयारी
दौड़े बच्चे दिल को थाम

बाग बगीचे भरे पड़े हैं
लटके तरह-तरह के आम
माली के नजरों से छुप कर
निशाना लगाते गुलेल थाम

जिसका निशाना पक्का होता
मिलता उसको उसका ईनाम
लगे पत्थर जो माली के सर पर
सरपट भागे धड़ाम धड़ाम

सबके दिलों की पसंद हैं यह
सबके मन को ललचाते आम
पल भर में चट कर जाते
बच्चों को खूब लुभाते आम

1 Like · 49 Views
You may also like:
कुछ दुआ का
Dr fauzia Naseem shad
जिंदगी तो धोखा है।
Taj Mohammad
आजादी का जश्न
DESH RAJ
बेरूखी
Anamika Singh
बद्दुआ गरीबों की।
Taj Mohammad
मुझे तो सदगुरु मिल गए ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
स्वागत बा श्री मान
आकाश महेशपुरी
जिनकी नज़र में
Dr fauzia Naseem shad
गरीबी तमाशा बना
Dr fauzia Naseem shad
आजादी का अमृत महोत्सव
kumar Deepak "Mani"
जन्म दिन का खास तोहफ़ा।
Taj Mohammad
आज बहुत दिनों बाद
Krishan Singh
*सावन की जय हो (गीत)*
Ravi Prakash
वेश्या का दर्द
Anamika Singh
मुझे छल रहे थे
Anamika Singh
दर्द को गर
Dr fauzia Naseem shad
राम भरोसे (हास्य व्यंग कविता )
ओनिका सेतिया 'अनु '
बुद्ध या बुद्धू
Priya Maithil
कल भी होंगे हम तो अकेले
gurudeenverma198
संविधान की गरिमा
Buddha Prakash
*मतलब डील है (गीतिका)*
Ravi Prakash
फूलो की कहानी,मेरी जुबानी
Anamika Singh
तेरा साथ मुझको गवारा नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
जीने का नजरिया अंदर चाहिए।
Taj Mohammad
" शरारती बूंद "
Dr Meenu Poonia
अदीब लगता नही है कोई।
Taj Mohammad
कविता की महत्ता
Rj Anand Prajapati
नैतिकता और सेक्स संतुष्टि का रिलेशनशिप क्या है ?
Deepak Kohli
पितृ स्वरूपा,हे विधाता..!
मनोज कर्ण
मिलन
Anamika Singh
Loading...