Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#6 Trending Author
May 25, 2022 · 1 min read

बचे जो अरमां तुम्हारे दिल में

बचे जो अरमां तुम्हारे दिल में,
उनको पूरा कर लो अब तुम।
अब ना हाथ आऊंगी तुम्हारे,
चाहे जितने जतन कर लो तुम।।

बचे जो तीर तरकस में तुम्हारे,
उनको बेशक चला लो तुम ।
दिए जो जख्म दिल में तुमने ,
कितना नमक लगा लो तुम।।

मैं अबला नहीं रही हूं अब
जिसे कभी सताते थे तुम।
मैं सबला बन चुकी हूं अब,
कितने ही प्रयत्न कर लो तुम।।

मिलता था चैन तुमको,
जब बेचैन करते थे तुम।
मै रोती रही पूरी जिंदगी,
जरा मुस्करा लो अब तुम।।

चलाए जो नैनो से बाण तुमने,
उनको कर लो अब कम तुम।
बहुत सताया है मुझे तुमने,
ढाओ न सितम अब और तुम।।

जा रही हूं आखरी मंजिल पे,
कफ़न उढ़ा दो अब तो तुम।
चलेंगे लोग सब पीछे मेरे,
बस कंधा दे देना अब तुम।।

भले ही अदृश्य हूं कफ़न में,
देख सकते है सब कुछ तुम।
अपना चेहरा दिखा दो मुझे,
मिल न पाएंगे कभी हम तुम।।

-आर के रस्तोगी गुरुग्राम

5 Likes · 7 Comments · 212 Views
You may also like:
बचपन
Anamika Singh
सिपाही
Buddha Prakash
पिता
Shankar J aanjna
श्रमिक जो हूँ मैं तो...
मनोज कर्ण
जुल्म
AMRESH KUMAR VERMA
मातृ रूप
श्री रमण 'श्रीपद्'
हमारी मां हमारी शक्ति ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
पिता की सीख
Anamika Singh
जिज्ञासा
Rj Anand Prajapati
हम भाई भाई थे
Anamika Singh
बाजारों में ना बिकती है।
Taj Mohammad
पिता हिमालय है
जगदीश शर्मा सहज
✍️मानो तो ये भी सही✍️
'अशांत' शेखर
हौंसलों की कमी नहीं लेकिन ।
Dr fauzia Naseem shad
नील छंद "विरहणी"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
बताकर अपना गम।
Taj Mohammad
आज नहीं तो कल होगा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
चुनौती
AMRESH KUMAR VERMA
कोशिश
Anamika Singh
'स्मृतियों की ओट से'
Rashmi Sanjay
"अंतरात्मा"
Dr.Alpa Amin
कैसा मोजिजा है।
Taj Mohammad
तू ही पहली।
Taj Mohammad
✍️चाबी का एक खिलौना✍️
'अशांत' शेखर
भगवान विरसा मुंडा
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दंगा पीड़ित
Shyam Pandey
जीत-हार में भेद ना,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
नन्हें फूलों की नादानियाँ
DESH RAJ
Loading...