Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#5 Trending Author
Aug 5, 2022 · 1 min read

बचपन भी कहीं खो गया है।

बचपन भी कहीं खो गया है अब इसमें मिलती कहीं शैतानी नहीं।
नींद कैसे आए नौनिहालों को दादी-नानी भी सुनाती कोई कहानी नहीं ।।

✍️✍️ ताज मोहम्मद ✍️✍️

2 Likes · 6 Comments · 40 Views
You may also like:
मां शारदा
AMRESH KUMAR VERMA
गुरु के अनेक रूप
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️चेहरा-ए-नक़्श✍️
'अशांत' शेखर
क्यों किया एतबार
Dr fauzia Naseem shad
मजदूर की रोटी
AMRESH KUMAR VERMA
✍️हार और जित✍️
'अशांत' शेखर
ग़ज़ल -
Mahendra Narayan
✍️जर्रे में रह जाऊँगा✍️
'अशांत' शेखर
खुद को न मिटने दो
Anamika Singh
धीरे-धीरे कदम बढ़ाना
Anamika Singh
भगवान हमारे पापा हैं
Lucky Rajesh
#क्या_पता_मैं_शून्य_हो_जाऊं
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
प्रीतम दोहावली
आर.एस. 'प्रीतम'
#कविता//ऊँ नमः शिवाय!
आर.एस. 'प्रीतम'
पिता
Madhu Sethi
"बीते दिनों से कुछ खास हुआ है"
Lohit Tamta
कविता: देश की गंदगी
Deepak Kohli
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
जीवन चक्र
AMRESH KUMAR VERMA
*कृष्ण जैसा मित्र होना चाहिए (मुक्तक)*
Ravi Prakash
हरियाली और बंजर
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
वफ़ा
Seema Tuhaina
✍️धुप में है साया✍️
'अशांत' शेखर
ज़ाफ़रानी
Anoop Sonsi
प्राकृतिक उपचार
Vikas Sharma'Shivaaya'
GOD YOU are merciful.
Taj Mohammad
चेतना के उच्च तरंग लहराओं रे सॉवरियाँ
Dr.sima
You are my life.
Taj Mohammad
रावण - विभीषण संवाद (मेरी कल्पना)
Anamika Singh
पेड़ों का चित्कार...
Chandra Prakash Patel
Loading...