Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jul 27, 2021 · 1 min read

बँटवारे का दर्द

बँटवारे का दर्द
~~~~~~~~~

खंजर भोंक माँ के सीने में हज़ारों,
खण्डित कर दिया निजस्वार्थ के सितारों।
छलकाती दर्द मानवता का धरा पर,
भारत के दो टुकडों हुए हैं यहाँ पर।

रिश्ता बटी, फरिश्ता बटा,
बटी फिर, आह मिट्टी की।
शिक्षा बटी, बस्ता बटा,
बटी फिर, नाज भिट्टी की ।

सिंधु की तकदीर में ही थी,
सीमा के उस पार ही बहना।
सभ्यता की इक निशानी को,
लुटेरों के संग-संग अचल रहना।

सत्ताधीन होना जो था,
आतुर उस महारथ ने ।
जनों के लाश महलों पर,
भुवन प्रासाद बना डाला।

तड़पती प्राण जन- मन के,
बिलखती लाज अबला की ।
उजड़ी मांग सिंदूरी थी,
राष्ट्र के वीरांगनाओं की ।

सीमाएं बाँट कर दुर्योधन,
अहं का अट्टहास कर बैठा।
आतुर राजसत्ता को,
वतन का सर्वनाश कर बैठा।

खण्डित हो गई थी सपूतों की,
कल्पित कपोल कल्पनाएं ।
उन्हें तब कौन समझाता ,
जन -मन की आकांक्षाएं ।

निजस्वार्थ सत्ता में लिपटकर,
पृथक कानून भी बना डाला।
लगा कर धर्म का मरहम,
संस्कृति को भी टुकड़े कर डाला।

यहाँ दौलत का भी होता बँटवारा,
सदा मजहब के तराजू पर ।
बताओ कौन सा है देश ऐसा,
जहाँ कानून का भी होता बँटवारा।

इकलौता देश है भारत जहां,
पृथक है रिश्तों की परिभाषा ।
कहीं बहुपत्नीक प्रथा की आज़ादी,
कहीं पतिव्रता नारी की अभिलाषा।

जो दे नहीं सबको समानता,
गजब उस न्याय की धारा ।
वक़्त की इस नजाकत को,
समझ लो अब तुम इशारा।

मौलिक एवं स्वरचित

© ® मनोज कुमार कर्ण
कटिहार ( बिहार )
तिथि – २७ /०७/२०२१
मोबाइल न. – 8757227201

15 Likes · 8 Comments · 1980 Views
You may also like:
वाक्य से पोथी पढ़
शेख़ जाफ़र खान
जाने कैसी कैद
Saraswati Bajpai
मौसम की पहली बारिश....
Dr. Alpa H. Amin
हर लम्हा।
Taj Mohammad
गर्भ से बेटी की पुकार
Anamika Singh
जिंदगी क्या है?
Ram Krishan Rastogi
आप तो आप ही हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गीत - याद तुम्हारी
Mahendra Narayan
जिंदगी ये नहीं जिंदगी से वो थी
Abhishek Upadhyay
🌺🌺Kill your sorrows with your willpower🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कभी भीड़ में…
Rekha Drolia
*मतलब डील है (गीतिका)*
Ravi Prakash
आखिर क्यों... ऐसा होता हैं 
Dr. Alpa H. Amin
जीवन साथी
जगदीश लववंशी
Born again with love...
Abhineet Mittal
चमचागिरी
सूर्यकांत द्विवेदी
Touching The Hot Flames
Manisha Manjari
अभी बचपन है इनका
gurudeenverma198
पिता
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️कथासत्य✍️
"अशांत" शेखर
दिल बंजर कर दिया है।
Taj Mohammad
*दर्शन प्रभुजी दिया करो (गीत भजन)*
Ravi Prakash
तुम्हारे शहर में कुछ दिन ठहर के देखूंगा।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
उलझनें_जिन्दगी की
मनोज कर्ण
यूं तुम मुझमें जज़्ब हो गए हो।
Taj Mohammad
कैसा हो सरपंच हमारा / (समसामयिक गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Feel it and see that
Taj Mohammad
तेरा रूतबा है बड़ा।
Taj Mohammad
मैं बेटी हूँ।
Anamika Singh
सांसें कम पड़ गई
Shriyansh Gupta
Loading...