Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#3 Trending Author
Aug 3, 2022 · 1 min read

फौजी बनना कहाँ आसान है

फौजी बनना कहाँ आसान है।
इसके लिए करना पड़ता सबकुछ कुर्बान है।
वतन के लिए दुशमन से लड़ना पड़ता है
जरूरत पड़े तो वतन के लिए
जान निछावर करना पड़ता है।
अपने खून के कतरे-कतरे में
देश के लिए जज्बात भरना पड़ता है।
सर्द भरी रातों मे खुद को तपाकर
शरहद पर नजर बिछाएँ रखना पड़ता है।
तपती गर्मी मे भी खुद को जलाकर,
शरहद पर अडिग रहना पड़ता है।
कोई आँच न आए हमारे वतन पर,
इसके लिए जान हथेली पर लेकर
काँटो के ऊपर चलना पड़ता है।
देश में अमन-चैन का बहार बना रहे सदा,
इसलिए अपने जीवन में पतझर भरकर
अपने परिवार से,हर त्यौहार से दूर
शरहद पर टिका रहना पड़ता है।
खुशी-खुशी देश पर मर मिटने का जज्बा
बुलंद कलेजे के अंदर साहस
को जगाना पड़ता है।
तिरंगे के आन-बान-शान के लिए
तन-मन-धन सब अर्पण करने का
हौसला दिखाना पड़ता है।

अनामिका

6 Likes · 16 Comments · 153 Views
You may also like:
परिवार
Dr Meenu Poonia
(स्वतंत्रता की रक्षा)
Prabhudayal Raniwal
आज़ादी का परचम
Rekha Drolia
कातिल ना मिला।
Taj Mohammad
मैं तुमको याद आऊंगा।
Taj Mohammad
कोई एहसास है शायद
Dr fauzia Naseem shad
दीये की बाती
सूर्यकांत द्विवेदी
ग़ज़ल
Awadhesh Saxena
पिता
Santoshi devi
पिता
Aruna Dogra Sharma
नहीं बचेगी जल विन मीन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
वह प्यार कैसा होगा
Anamika Singh
✍️हृदय में मिलेगा मेरा भारत महान✍️
'अशांत' शेखर
✍️अलहदा✍️
'अशांत' शेखर
विधाता
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मिल जाने की तमन्ना लिए हसरत हैं आरजू
Dr.sima
हर घर तिरंगा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
विश्वासघात
Seema 'Tu haina'
तिरंगा
आकाश महेशपुरी
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
विचार
Vishnu Prasad 'panchotiya'
महापंडित ठाकुर टीकाराम
श्रीहर्ष आचार्य
मैं समंदर के उस पार था
Dalveer Singh
गुणगान क्यों
spshukla09179
*चुहियादानी (बाल कहानी)*
Ravi Prakash
#क्या_पता_मैं_शून्य_हो_जाऊं
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
कविराज
Buddha Prakash
ब्रेक अप
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
तुझे वो कबूल क्यों नहीं हो मैं हूं
Krishan Singh
आप तो आप ही हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...