Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

फितरत…..

इस ज़माने में लोगो कि फितरत की बात क्या कीजे,
जो मतलब से बदले मुखड़े उनकी बात क्या कीजे
जिनकी आँखों पर पड़ा हो अंधकार रूप का पर्दा,
रोशन ह्रदय करने में भला चाँद रात भी क्या कीजे ।।



डी. के. निवातियाँ

286 Views
You may also like:
एसजेवीएन - बढ़ते कदम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बदला
शिव प्रताप लोधी
उत्तर प्रदेश दिवस
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
विसाले यार ना मिलता है।
Taj Mohammad
*चली ससुराल जाती हैं (गीतिका)*
Ravi Prakash
जिदंगी के कितनें सवाल है।
Taj Mohammad
♡ चाय की तलब ♡
Dr. Alpa H. Amin
रिश्तों में बढ रही है दुरियाँ
Anamika Singh
💐प्रेम की राह पर-27💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️✍️नींद✍️✍️
"अशांत" शेखर
तन्हाई
Alok Saxena
पिता क्या है?
Varsha Chaurasiya
हाल ए इश्क।
Taj Mohammad
Be A Spritual Human
Buddha Prakash
एक बात... पापा, करप्शन.. लेना
Nitu Sah
प्रलयंकारी कोरोना
Shriyansh Gupta
महाकवि नीरज के बहाने (संस्मरण)
Kanchan Khanna
【28】 *!* अखरेगी गैर - जिम्मेदारी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा...!!
Taj Mohammad
इंतजार का....
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
💐प्रेम की राह पर-29💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता
रिपुदमन झा "पिनाकी"
शादी से पहले और शादी के बाद
gurudeenverma198
Even If I Ever Died
Manisha Manjari
सुन री पवन।
Taj Mohammad
(((मन नहीं लगता)))
दिनेश एल० "जैहिंद"
ग़ज़ल
सुरेखा कादियान 'सृजना'
रुक क्यों जाता हैं
Taran Verma
धन-दौलत
AMRESH KUMAR VERMA
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग ७]
Anamika Singh
Loading...