Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 14, 2022 · 1 min read

प्रेम

प्रेम भक्ति का मुख्य तत्व हैं।
प्रेम ही भक्ति का बीज हैं।
प्रेम ही सभी सद्गुणों का आधार है।
प्रेम नहीं तो संसार में कुछ नहीं सार हैं।
एहसास का भाव, जुड़ने का भाव, विचार आदि सबका सार प्रेम ही हैं।
नहीं तो मात्र अलगाव , बिखराव है।
भक्त प्रेम ,व्यक्ति प्रेम भले निचले तल का कहलाए , प्रेम ही सबका सार हैं।
माँ-बाप,रिश्तों का प्यार ,सबका आधार प्रेम होना चहिए। प्रेम
सिखाया नहीं जाता ये स्वभाव है।
मानव – मानवी का, इंसानियत का ,सद गुण बीज हैं, जिसमें प्रेम प्रस्फुटित होता। जिससे मनुष्य में मानवीय गुणों ,संवेदना पैदा होता है। जो अपने में अनोखा आधार हैं। वहीं तो प्यार हैं ,
प्यार दो लोग के बीच का है।
प्रेम सर्वत्र ,यत्र -तत्र पूजते ‌‌‌‌है। जिससे मनुष्य का संसार
हैं। प्रेम सहायता रूप, प्रेम आगे बढ़ने का नाम हैं।
_ डॉ सीमा कुमारी, बिहार, भागलपुर दिनांक-9-8-021की मौलिक एवं स्वरचित रचना जिसे आज प्रकाशित कर रही हूं।

4 Likes · 4 Comments · 159 Views
You may also like:
सच
दुष्यन्त 'बाबा'
हे परम पिता परमेश्वर, जग को बनाने वाले
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जीने की वजह तो दे
Saraswati Bajpai
जगत जननी है भारत …..
Mahesh Ojha
यह दुनिया है कैसी
gurudeenverma198
बचे जो अरमां तुम्हारे दिल में
Ram Krishan Rastogi
कविता " बोध "
vishwambhar pandey vyagra
💐प्रेम की राह पर-22💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
फर्क पिज्जा में औ'र निवाले में।
सत्य कुमार प्रेमी
कुछ हंसी पल खुशी के।
Taj Mohammad
# जज्बे सलाम ...
Chinta netam " मन "
मां की महानता
Satpallm1978 Chauhan
सम्मान की निर्वस्त्रता
Manisha Manjari
“ शिष्टता के धेने रहू ”
DrLakshman Jha Parimal
✍️जिंदगी का फ़लसफ़ा✍️
"अशांत" शेखर
ऐ उम्मीद
सिद्धार्थ गोरखपुरी
स्वयं में एक संस्था थे श्री ओमकार शरण ओम
Ravi Prakash
तेरे संग...
Dr. Alpa H. Amin
💐प्रेम की राह पर-23💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मुरादाबाद स्मारिका* *:* *30 व 31 दिसंबर 1988 को उत्तर...
Ravi Prakash
आप कौन है
Sandeep Albela
💐💐प्रेम की राह पर-13💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तेरा रूतबा है बड़ा।
Taj Mohammad
💐ये मेरी आशिकी💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
* साम वेदना *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हवा-बतास
आकाश महेशपुरी
बे-इंतिहा मोहब्बत करते हैं तुमसे
VINOD KUMAR CHAUHAN
पावन पवित्र धाम....
Dr. Alpa H. Amin
कर्मगति
Shyam Sundar Subramanian
✍️अग्निपथ...अग्निपथ...✍️
"अशांत" शेखर
Loading...