Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 7, 2021 · 1 min read

प्रीत बरसात बाकी है

प्रीत बरसात बाकी है
प्रीत बरसात बाकी है
प्रीत मनुहार बाकी है
विरह की धुन्ध छायी
प्रिय की पुकार बाकी है

दहका दहका अंग है
बहका बहका मन है
यौवन की बदरी छाई
प्रीत अलंकार बाकी है

अम्बर आकुल दिखता
रह रह कर गरजता
शून्य शोरगुल करता
प्रीत प्रकार बाकी है

घनन घनन घन घोर
बूँदें गिरती है घन से
मन बीथी शीत नीर से
प्रिय संसार बाकी है

78 Likes · 275 Views
You may also like:
चेतना के उच्च तरंग लहराओं रे सॉवरियाँ
Dr.sima
अग्रवाल समाज और स्वाधीनता संग्राम( 1857 1947)
Ravi Prakash
ताकि याद करें लोग हमारा प्यार
gurudeenverma198
बेटी जब घर से भाग जाती है
Dr. Sunita Singh
रामे क बरखा ह रामे क छाता
Dhirendra Panchal
मेहमान बनकर आए और दुश्मन बन गए ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
रामपुर का इतिहास (पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
दिल का यह
Dr fauzia Naseem shad
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
बस तुम ही तुम हो।
Taj Mohammad
श्री राधा मोहन चतुर्वेदी
Ravi Prakash
जुद़ा किनारे हो गये
शेख़ जाफ़र खान
पिता
Ray's Gupta
जीवन एक कारखाना है /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कविगोष्ठी समाचार
Awadhesh Saxena
बेगानी शादी में अब्दुल्ला दीवाना
विनोद सिल्ला
बड़ी शिकायत रहती है।
Taj Mohammad
महेंद्र जी (संस्मरण / पुस्तक समीक्षा)
Ravi Prakash
सैनिक
AMRESH KUMAR VERMA
ग़ज़ल
kamal purohit
तुम मेरे नसीब मे न थे
Anamika Singh
✍️चीरफाड़✍️
"अशांत" शेखर
ज़माने की नज़र से।
Taj Mohammad
दिल की आवाज़
Dr fauzia Naseem shad
कब मेरी सुधी लोगे रघुराई
Anamika Singh
तुम्हारा प्यार अब नहीं मिलता।
सत्य कुमार प्रेमी
अश्रुपात्र A glass of years भाग 6 और 7
Dr. Meenakshi Sharma
बारिश हमसे रूढ़ गई
Dr.Alpa Amin
मरने के बाद।
Taj Mohammad
नजर तो मुझको यही आ रहा है
gurudeenverma198
Loading...