Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 9, 2019 · 1 min read

प्रीतीसुख का स्वागत (महिला दिवस पर विशेष “कविता”)

छोड़ बाबुल का अंगना
संग आई तेरे सजना
प्रीत की बंधी तुझसे डोर
मन हो गया विभोर

माथे की बिंदिया लगायी तेरे नाम की
श्रृंगार रूपी गहनों से सजी प्रीत ले स्वागत की
मनभावन फूलों की सुगंध से महके मेरा सौभाग्य
नवोदय की आगाज पर मिले मनमीत यह मेरा अहोभाग्य

सजना मधुरम नवजीवन की करेंगे हम शुरुआत
दोनों के समागम भावनाओं से होगी रस बरसात
बुनियादों का कर त्याग हमें करना कुरितियों का हनन
गर तुम निभाओ साथ मेरा सुखद होगा ये नवजीवन

ओ सजना मेरे
सुख-दुख जीवन के पहलु दो
प्रीत के सागर में साथी दो
हम दोनों प्रेमरस से एकरूप हो जाएं
इस शीतल चांदनी में
सूरज की रोशनी में
विशाल क्षितिज पर
छबि निर्मित करें
नये आलिंगन नवचेतना लिए
भावों के नादमधुर सूरताल के साथ
स्वागतम करें इस नवजीवन की

मुझे यकीन है हमारा जीवन अवश्य होगा साकार
दुःखों के कांटे कितने ही चूंभे फूलों की होगी अवश्य बहार
हम दोनों की प्रीत का संगीत याद करेगा यह संसार

आरती अयाचित
भोपाल

1 Like · 179 Views
You may also like:
पिता
pradeep nagarwal
✍️Happy Friendship Day✍️
'अशांत' शेखर
मैं हासिल नही हूं।
Taj Mohammad
खुदाई भरी पड़ी है।
Taj Mohammad
सेतुबंध रामेश्वर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अदम्य जिजीविषा के धनी श्री राम लाल अरोड़ा जी
Ravi Prakash
♡ भाई-बहन का अमूल्य रिश्ता ♡
Dr.Alpa Amin
सुरज दादा
Anamika Singh
बरसात आई है
VINOD KUMAR CHAUHAN
ग़ज़ल / (हिन्दी)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
करोना
AMRESH KUMAR VERMA
ऊँच-नीच के कपाट ।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
सच होता है कड़वा
gurudeenverma198
माँ
अश्क चिरैयाकोटी
प्रकृति का उपहार
Anamika Singh
# उम्मीद की किरण #
Dr.Alpa Amin
Religious Bigotry
Mahesh Ojha
दिल पूछता है हर तरफ ये खामोशी क्यों है
VINOD KUMAR CHAUHAN
पितृ स्तुति
दुष्यन्त 'बाबा'
एक पते की बात
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मुँह इंदियारे जागे दद्दा / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
दर्द का अंत
AMRESH KUMAR VERMA
पिता का प्यार
pradeep nagarwal
जीवन की सौगात "पापा"
Dr.Alpa Amin
ईश्वर की ठोकर
Vikas Sharma'Shivaaya'
निज सुरक्षित भावी
AMRESH KUMAR VERMA
✍️सलीक़ा✍️
'अशांत' शेखर
तुझे देखा तो...
Dr. Meenakshi Sharma
डर कर लक्ष्य कोई पाता नहीं है ।
Buddha Prakash
मूकदर्शक
Shyam Sundar Subramanian
Loading...