Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 25, 2022 · 1 min read

प्रिय

चाल है तेरी हिरनी जैसी, उफ ये लम्बे बाल प्रिय
आँखे है तेरी नागिन जैसी, लगा ये उनपे काला काज प्रिय
होट है तेरे गुलाब जैसे, गुलाबजामुन से है गाल प्रिय
कमर है तेरी मोर जैसी , दिखने में हो तुम चाँद प्रिय
तिरछी तिरछी इन नज़रो से , चलाओ न हमपे वान प्रिय
के तू मंद मंद मुस्कान से, न लो हमरी जान प्रिय
के ,तू आसमान से आई है , तू है अप्सराओं के समान प्रिय
के, तू है विमल इलायची सी , तो मैं हू थूका पान प्रिय
के, तू है बारिश का मौसम सी , तो मैं हू सूखा अकाल प्रिय
बस 1 बारी हमरे पर बरस जाओ , करो न यू अभिमान प्रिय
के हमको तुमरे प्रेम रस का, करने दो रसपान प्रिय
के लिखने में कुछ हो गई हो गलती , तो देना हमको क्षमादान प्रिय

1 Like · 151 Views
You may also like:
पिताजी
विनोद शर्मा सागर
युद्ध आह्वान
Aditya Prakash
मुस्कुराएं सदा
Saraswati Bajpai
आज के ख़्वाब ने मुझसे पूछा
Vivek Pandey
हो गई स्याह वह सुबह
gurudeenverma198
भोरे
spshukla09179
✍️माटी का है मनुष्य✍️
"अशांत" शेखर
बहुत कुछ सिखा
Swami Ganganiya
'जियो और जीने दो'
Godambari Negi
जब जब ही मैंने समझा आसान जिंदगी को।
सत्य कुमार प्रेमी
खुशबू
DESH RAJ
✍️मोहसुख✍️
"अशांत" शेखर
*माहेश्वर तिवारी जी से संपर्क*
Ravi Prakash
ऐसा ही होता रिश्तों में पिता हमारा...!!
Taj Mohammad
समय
AMRESH KUMAR VERMA
✍️बेवफ़ा मोहब्बत✍️
"अशांत" शेखर
पिता !
Kuldeep mishra (KD)
पिता
Arvind trivedi
ज्योति : रामपुर उत्तर प्रदेश का सर्वप्रथम हिंदी साप्ताहिक
Ravi Prakash
जूतों की मन की व्यथा
Ram Krishan Rastogi
आजादी
AMRESH KUMAR VERMA
जीतने की उम्मीद
AMRESH KUMAR VERMA
आज बहुत दिनों बाद
Krishan Singh
बिछड़न [भाग१]
Anamika Singh
कभी जमीं कभी आसमां बन जाता है।
Taj Mohammad
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
नवाब तो छा गया ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
बेबस पिता
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
*श्री विष्णु शरण अग्रवाल सर्राफ के गीता-प्रवचन*
Ravi Prakash
शहीदों का यशगान
शेख़ जाफ़र खान
Loading...