Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

प्रारब्ध प्रबल है

जीवन पथ पर कुछ खो जाने पर
मानव हो जाता अधिक विकल है
सबल -निबल नहीं है मानव
बस केवल प्रारब्ध प्रबल है

नीयत तय करती है नियति
क्या खोना और क्या पाना है
एक सत्य सास्वत् है जग में
रोते आए हैं रोते जाना है
बड़ी बात को समझे नहीं मानव
विधाता ने दी तो बड़ी अकल है
सबल -निबल नहीं है मानव
बस केवल प्रारब्ध प्रबल है

भाग्य कर्म से आगे है अब
जो चाहेगा वह दे देगा
लेकिन निश्चित नहीं है ये के
देने के बदले क्या ले लेगा
वक़्त के कठिन थपेड़ों के आगे
जीवन जीना अब कहाँ सरल है
सबल -निबल नहीं है मानव
बस केवल प्रारब्ध प्रबल है

हैसियत बढ़ने पर इतराना
महज मूर्खता है जीवन में
क्या देख सका है मानव
कितना सुकून है संयम में
ग़र संयम को अपना ले तो
जीवन का हर पल उत्कल है
सबल -निबल नहीं है मानव
बस केवल प्रारब्ध प्रबल है
-सिद्धार्थ गोरखपुरी

2 Likes · 2 Comments · 118 Views
You may also like:
उम्मीद पर है जिन्दगी
Anamika Singh
लत...
Sapna K S
जिंदगी और करार
ananya rai parashar
थक चुकी हूं मैं
Shriyansh Gupta
इंतजार मत करना
Rakesh Pathak Kathara
सत् हंसवाहनी वर दे,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
बॉलीवुड का अंधा गोरी प्रेम और भारतीय समाज पर इसके...
हरिनारायण तनहा
पिता क्या है?
Varsha Chaurasiya
Destined To See A Totally Different Sight
Manisha Manjari
दिया
Anamika Singh
टूटे बहुत है हम
D.k Math
क्यों मार दिया,सिद्दू मूसावाले को
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
वो काली रात...!
मनोज कर्ण
पर्यावरण संरक्षण
Manu Vashistha
ज्यादा रोशनी।
Taj Mohammad
✍️किसान के बैल की संवेदना✍️
"अशांत" शेखर
मैं मेरा परिवार और वो यादें...💐
लवकुश यादव "अज़ल"
बना कुंच से कोंच,रेल-पथ विश्रामालय।।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
गुमनामी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
" हसीन जुल्फें "
DESH RAJ
यश तुम्हारा भी होगा
Rj Anand Prajapati
मुंह की लार – सेहत का भंडार
Vikas Sharma'Shivaaya'
शांति....
Dr. Alpa H. Amin
.✍️वो थे इसीलिये हम है...✍️
"अशांत" शेखर
मेघो से प्रार्थना
Ram Krishan Rastogi
आँखें भी बोलती हैं
सिद्धार्थ गोरखपुरी
कैसे समझाऊँ तुझे...
Sapna K S
पीला पड़ा लाल तरबूज़ / (गर्मी का गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
प्रेम
Dr.sima
ज़िंदगी।
Taj Mohammad
Loading...