Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 20, 2022 · 1 min read

प्रणाम नमस्ते अभिवादन….

नमस्ते प्रणाम अभिवादन
है ऐ हमारी संस्कार से
सजी प्रणाली महान…!

जो जन्म से ही हैं सबमें निखरी
कुछ हटके बनाती पहचान हमारी
वो हैं प्रणाम नमस्ते अभिवादन…!

जान पहचान के हो.. या हो कोई अजनबी…
सबसे पहला सभ्यता का
भाव है प्रगटे आदरता का,
वो है प्रणाम नमस्ते अभिवादन…!!

जहां भी जाना हो… या फिर…
मिलन मुलाकात हो….अपना हो…
या पराया हो.. छोटा हो या, बड़ा हो…
उत्तम भाव से प्रगट करते है सम्मान उनका
वो है प्रणाम नमस्ते अभिवादन…..!!

ऐ है हमसब की सबसे बड़ी पूंजी
जिससे दिपे है मानवता सारी
गुणगान की भी शोभा अनेरी
हैं ऐ सभ्यता सभर उत्तम संस्कार संस्कृति
जिससे हम हैं खिले खिले
वो हैं प्रणाम नमस्ते अभिवादन…….!!!!

2 Likes · 216 Views
You may also like:
✍️✍️ठोकर✍️✍️
'अशांत' शेखर
फ़ालतू बात यही है
gurudeenverma198
शम्बूक हत्या! सत्य या मिथ्या?
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
✍️✍️नींद✍️✍️
'अशांत' शेखर
हर घर तिरंगा
Dr Archana Gupta
प्यार करने की कभी कोई उमर नही होती
Ram Krishan Rastogi
हवा का हुक़्म / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सरस्वती कविता
Ankit Halke jha Official's
मिल जाने की तमन्ना लिए हसरत हैं आरजू
Dr.sima
पिता
Rajiv Vishal
उसकी सांसों में जान
Dr fauzia Naseem shad
लोकसभा की दर्शक-दीर्घा में एक दिन: 8 जुलाई 1977
Ravi Prakash
“ खाइतो छी आ गुंगुअवैत छी “
DrLakshman Jha Parimal
किस क़दर।
Taj Mohammad
गर्मी
Ram Krishan Rastogi
बिहार एवं बिहारी (मेलोडी)
संजीव शुक्ल 'सचिन'
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
✍️हम सब है भाई भाई✍️
'अशांत' शेखर
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
✍️सत्ता का नशा✍️
'अशांत' शेखर
गंगा दशहरा
श्री रमण 'श्रीपद्'
खुद से बच कर
Dr fauzia Naseem shad
खुशियां तो होंगी वहां पर।
Taj Mohammad
तपिश।
Taj Mohammad
** थोड़े मे **
Swami Ganganiya
प्रेम की परिभाषा
Nitu Sah
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग ५]
Anamika Singh
माँ
Dr Archana Gupta
शामिल इबादतो में
Dr fauzia Naseem shad
कब आओगे
dks.lhp
Loading...