Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Jul 2016 · 1 min read

प्रकृति ने ही हमें दिया , जल जैसा उपहार,

प्रकृति ने ही हमें दिया,जल जैसा उपहार,
हम हरियाली काट कर,मिटा रहे श्रृंगार

आसमान को ताकते , बेबस से ये नैन
गर्मी से झुलसा बदन , खोया मन का चैन

नदियों के इस देश में , प्यासी सी अब प्यास
बड़ी दरारे अब लिए , दिखती धरा उदास

अब आँखों की भीगती , नहीं दर्द से कोर
नफरत लालच स्वार्थ के, इसमें बैठे चोर
डॉ अर्चना गुप्ता

Language: Hindi
2 Comments · 407 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
असली नशा
असली नशा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हंस के 2019 वर्ष-अंत में आए दलित विशेषांकों का एक मुआयना / musafir baitha
हंस के 2019 वर्ष-अंत में आए दलित विशेषांकों का एक मुआयना / musafir baitha
Dr MusafiR BaithA
गजलकार रघुनंदन किशोर
गजलकार रघुनंदन किशोर "शौक" साहब का स्मरण
Ravi Prakash
एक कहानी है, जो अधूरी है
एक कहानी है, जो अधूरी है
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
रिश्ते
रिश्ते
Ashwani Kumar Jaiswal
Sukun usme kaha jisme teri jism ko paya hai
Sukun usme kaha jisme teri jism ko paya hai
Sakshi Tripathi
श्रावण गीत
श्रावण गीत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
शार्टकट
शार्टकट
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ज़िन्दगी का सफ़र
ज़िन्दगी का सफ़र
Sidhartha Mishra
शरद पूर्णिमा
शरद पूर्णिमा
अभिनव अदम्य
तुम्हारा प्यार अब नहीं मिलता।
तुम्हारा प्यार अब नहीं मिलता।
सत्य कुमार प्रेमी
चाहत कुर्सी की जागी
चाहत कुर्सी की जागी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
आप दिलकश जो है
आप दिलकश जो है
gurudeenverma198
मेरी बातों का असर यार हल्का पड़ा उस पर
मेरी बातों का असर यार हल्का पड़ा उस पर
कवि दीपक बवेजा
समय के खेल में
समय के खेल में
Dr. Mulla Adam Ali
कुछ तो रिश्ता है
कुछ तो रिश्ता है
Saraswati Bajpai
अपना...❤❤❤
अपना...❤❤❤
Vishal babu (vishu)
ਕੋਈ ਨਾ ਕੋਈ #ਖ਼ਾਮੀ ਤਾਂ
ਕੋਈ ਨਾ ਕੋਈ #ਖ਼ਾਮੀ ਤਾਂ
Surinder blackpen
इक क़तरा की आस है
इक क़तरा की आस है
kumar Deepak "Mani"
23/61.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/61.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
#लघु_कविता :-
#लघु_कविता :-
*Author प्रणय प्रभात*
2023
2023
AJAY AMITABH SUMAN
गुनो सार जीवन का...
गुनो सार जीवन का...
डॉ.सीमा अग्रवाल
समय सबों को बराबर मिला है ..हमारे हाथों में २४ घंटे रहते हैं
समय सबों को बराबर मिला है ..हमारे हाथों में २४ घंटे रहते हैं
DrLakshman Jha Parimal
तेरे नाम यह पैगा़म है सगी़र की ग़ज़ल।
तेरे नाम यह पैगा़म है सगी़र की ग़ज़ल।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
हम रात भर यूहीं तरसते रहे
हम रात भर यूहीं तरसते रहे
Ram Krishan Rastogi
फटा जूता
फटा जूता
Akib Javed
कितना तेरा मैं इंतिज़ार करूं
कितना तेरा मैं इंतिज़ार करूं
Dr fauzia Naseem shad
यादें .....…......मेरा प्यारा गांव
यादें .....…......मेरा प्यारा गांव
Neeraj Agarwal
क़यामत
क़यामत
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
Loading...