Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#7 Trending Author
Jul 14, 2016 · 1 min read

प्रकृति ने ही हमें दिया , जल जैसा उपहार,

प्रकृति ने ही हमें दिया,जल जैसा उपहार,
हम हरियाली काट कर,मिटा रहे श्रृंगार

आसमान को ताकते , बेबस से ये नैन
गर्मी से झुलसा बदन , खोया मन का चैन

नदियों के इस देश में , प्यासी सी अब प्यास
बड़ी दरारे अब लिए , दिखती धरा उदास

अब आँखों की भीगती , नहीं दर्द से कोर
नफरत लालच स्वार्थ के, इसमें बैठे चोर
डॉ अर्चना गुप्ता

2 Comments · 236 Views
You may also like:
मेरे दिल को जख्मी तेरी यादों ने बार बार किया
Krishan Singh
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
चेहरा अश्कों से नम था
Taj Mohammad
ग़ज़ल
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
प्रेमिका.. मेरी प्रेयसी....
Sapna K S
हाइकु_रिश्ते
Manu Vashistha
【1】 साईं भजन { दिल दीवाने का डोला }
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
तुम्हें सुकूँ सा मिले।
Taj Mohammad
बताकर अपना गम।
Taj Mohammad
पर्यावरण पच्चीसी
मधुसूदन गौतम
कुएं का पानी की कहानी | Water In The Well...
harpreet.kaur19171
*मृदुभाषी श्री ऊदल सिंह जी : शत-शत नमन*
Ravi Prakash
✍️हम भारतवासी✍️
"अशांत" शेखर
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
विलुप्त होती हंसी
Dr Meenu Poonia
पंडित मदन मोहन व्यास की कुंडलियों में हास्य का पुट
Ravi Prakash
श्री राधा मोहन चतुर्वेदी
Ravi Prakash
काश मेरा बचपन फिर आता
Jyoti Khari
मनुआँ काला, भैंस-सा
Pt. Brajesh Kumar Nayak
हमने किस्मत से आँखें लड़ाई मगर
VINOD KUMAR CHAUHAN
बारिश की ये पहली फुहार है
नूरफातिमा खातून नूरी
हे कृष्णा पृथ्वी पर फिर से आओ ना।
Taj Mohammad
कभी ज़मीन कभी आसमान.....
अश्क चिरैयाकोटी
जुल्म
AMRESH KUMAR VERMA
सोचता रहता है वह
gurudeenverma198
ख़ामोश अल्फाज़।
Taj Mohammad
अशक्त परिंदा
AMRESH KUMAR VERMA
ग़ज़ल & दिल की किताब में -राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
✍️अहज़ान✍️
"अशांत" शेखर
जाने क्या-क्या ? / (गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...