Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#17 Trending Author
Apr 20, 2022 · 1 min read

प्रकृति का अंदाज…..

प्रकृति अगर है शांत तो….
कुछ तो हुआ है…!
शायद हो सकता है की
शर्म से वह हो गई है शांत…
या.. फिर आने वाला है भयंकर तूफ़ान….!!

61 Views
You may also like:
हे मात जीवन दायिनी नर्मदे हर नर्मदे हर नर्मदे हर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कुछ भी ना साथ रहता है।
Taj Mohammad
✍️हे शहीद भगतसिंग...!✍️
"अशांत" शेखर
महान है मेरे पिता
gpoddarmkg
बंदिशें भी थी।
Taj Mohammad
डॉ. भीमराव रामजी अम्बेडकर
N.ksahu0007@writer
आज के नौजवान
DESH RAJ
मेरी भोली ''माँ''
पाण्डेय चिदानन्द
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है |
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कैसी है ये पीर पराई
VINOD KUMAR CHAUHAN
बाबासाहेब 'अंबेडकर '
Buddha Prakash
समंदर की चेतावनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हम लिखते क्यों हैं
पूनम झा 'प्रथमा'
बुद्ध भगवान की शिक्षाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेरी प्यारी प्यारी बहिना
gurudeenverma198
तुम चाहो तो सारा जहाँ मांग लो.....
डॉ. अनिल 'अज्ञात'
मौत ने की हमसे साज़िश।
Taj Mohammad
क्यों कहाँ चल दिये
gurudeenverma198
और कितना धैर्य धरू
Anamika Singh
यादें वो बचपन के
Khushboo Khatoon
✍️थोडा रूमानी हो जाते...✍️
"अशांत" शेखर
हर साल क्यों जलाए जाते हैं उत्तराखंड के जंगल ?
Deepak Kohli
अलबेले लम्हें, दोस्तों के संग में......
Aditya Prakash
बाबा अब जल्दी से तुम लेने आओ !
Taj Mohammad
*चाची जी श्रीमती लक्ष्मी देवी : स्मृति*
Ravi Prakash
एक नज़म [ बेकायदा ]
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तो पिता भी आसमान है।
Taj Mohammad
अगर तुम खुश हो।
Taj Mohammad
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
ये लखनऊ है मेरी जान।
Taj Mohammad
Loading...