Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#11 Trending Author
Apr 16, 2022 · 1 min read

प्यार के फूल….

आंखोसे जब आँखे मिली
हो गई जान-पहचान तभी
मन में हुए हलचल कई……
क्या ऐ हैं मेरा यार…!
दिल ने कहाँ धड़कने तो चले हैं लगातार
पर… कुछ तो हुआ हैं आज
जो… सांसो की रफ़्तार चले हैं तेज..! !
कुछ कुछ हो रहा हैं अहसास
तभी चंचल मन में उमटा हैं सैलाब
ख्यालों की लहरें भी मचाती हैं शोर
चाहत की पुकार भी उठी हैं….
वो… कहती हैं……….
दिलमें खिले हैं…. शायद प्यार के फूल …!!!

84 Views
You may also like:
वो बरगद का पेड़
Shiwanshu Upadhyay
दिल से निकले हुए कुछ मुक्तक
Ram Krishan Rastogi
परिस्थितियों के आगे न झुकना।
Anamika Singh
हर अश्क कह रहा है।
Taj Mohammad
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
जागीर
सूर्यकांत द्विवेदी
माँ दुर्गे!
Anamika Singh
दृश्य प्रकृति के
श्री रमण
रोज हम इम्तिहां दे सकेंगे नहीं
Dr Archana Gupta
वक़्त
Mahendra Rai
💐नाशवान् इच्छा एव पापस्य कारणं अविनाशी न💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
काबुल का दंश
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
कन्या रूपी माँ अम्बे
Kanchan Khanna
मुझे चाहत हैं तेरी.....
Dr. Alpa H. Amin
मेघो से प्रार्थना
Ram Krishan Rastogi
जग का राजा सूर्य
Buddha Prakash
धरती माँ का करो सदा जतन......
Dr. Alpa H. Amin
सबसे बड़ा सवाल मुँहवे ताकत रहे
आकाश महेशपुरी
पानी के लिए लड़ेगी दुनिया, नहीं मिलेगा चुल्लू भर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
भगवान हमारे पापा हैं
Lucky Rajesh
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग२]
Anamika Singh
मिसाल (कविता)
Kanchan Khanna
हमारी जां।
Taj Mohammad
नन्हा बीज
मनोज कर्ण
पिता
Ram Krishan Rastogi
कोई तो हद होगी।
Taj Mohammad
समय..
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
राई का पहाड़
Sangeeta Darak maheshwari
दंगा पीड़ित
Shyam Pandey
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग ७]
Anamika Singh
Loading...