Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 Jan 2022 · 1 min read

प्यार के नाम पर प्यार के नाम पर करते हैं गंदी हरकत यह सबका आजकल चल रहा है चक्कर

प्यार के नाम पर
प्यार के नाम पर
करते हैं गंदी हरकत
यह सबका आजकल चल रहा है चक्कर

प्यार के नाम पर
प्यार के नाम पर
कराती है रेप
करते हैं केश जब
हो जाते हैं जेल

जेल के बाद क्या होता है आप तो जानते हैं खेल चलते रहते हैं मुकद्दामा केस के

तारीख पर तारीख
हो जाते हैं अमीर से गरीब

चलते रहते हैं मुकद्दामा मिल नहीं पाता इंसाफ
अमीर से गरीब हुए थे
लेकिन इस बार हो गए घर से पैसा साफ
हार मानने की नौबत आ गई
फिर भी ना माने हार
परिणाम मिला साफ-साफ
दोसि हो गया उमर कैद की सजा
इस तरह मिला एक लड़की का इंसाफ

प्यार के नाम पर
प्यार के नाम पर
करते हैं गंदी हरकत
यह सबका आजकल चल रहा है चक्कर

Language: Hindi
Tag: तेवरी
206 Views
You may also like:
मुझको कबतक रोकोगे
मुझको कबतक रोकोगे
Abhishek Pandey Abhi
✍️फिर वही आ गये...
✍️फिर वही आ गये...
'अशांत' शेखर
हमारा प्रेम
हमारा प्रेम
अंजनीत निज्जर
जय माता की
जय माता की
Pooja Singh
तुम भी बढ़ो हम भी बड़े
तुम भी बढ़ो हम भी बड़े
कवि दीपक बवेजा
"एंबुलेंस कर्मी"
MSW Sunil SainiCENA
अंतर्द्वंद्व
अंतर्द्वंद्व
मनोज कर्ण
औरत
औरत
Rekha Drolia
💐कुड़ी तें लग री शाइनिंग💐
💐कुड़ी तें लग री शाइनिंग💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बोलना ही पड़ेगा
बोलना ही पड़ेगा
Shekhar Chandra Mitra
खुशबू बनके हर दिशा बिखर जाना है
खुशबू बनके हर दिशा बिखर जाना है
VINOD KUMAR CHAUHAN
अब हो ना हो
अब हो ना हो
Sidhant Sharma
मैं तो चाहता हूँ कि
मैं तो चाहता हूँ कि
gurudeenverma198
*विधायकी में क्या रखा है ? (हास्य व्यंग्य)*
*विधायकी में क्या रखा है ? (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
■ कटाक्ष / सेल्फी
■ कटाक्ष / सेल्फी
*Author प्रणय प्रभात*
DR. ARUN KUMAR SHASTRI
DR. ARUN KUMAR SHASTRI
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ये हमारे कलम की स्याही, बेपरवाहगी से भी चुराती है, फिर नये शब्दों का सृजन कर, हमारे ज़हन को सजा जाती है।
ये हमारे कलम की स्याही, बेपरवाहगी से भी चुराती है,...
Manisha Manjari
रास्ते जब कभी नहीं थकते
रास्ते जब कभी नहीं थकते
Dr fauzia Naseem shad
माँ कात्यायनी
माँ कात्यायनी
Vandana Namdev
"जाति"
Dr. Kishan tandon kranti
“ पागल -प्रेमी ”
“ पागल -प्रेमी ”
DrLakshman Jha Parimal
ऐसे काम काय करत हो
ऐसे काम काय करत हो
मानक लाल"मनु"
ईनाम
ईनाम
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
^^बहरूपिये लोग^^
^^बहरूपिये लोग^^
गायक और लेखक अजीत कुमार तलवार
वो पुरानी सी दीवारें
वो पुरानी सी दीवारें
शांतिलाल सोनी
मेरे भी थे कुछ ख्वाब,न जाने कैसे टूट गये।
मेरे भी थे कुछ ख्वाब,न जाने कैसे टूट गये।
Surinder blackpen
नज़र से नज़र
नज़र से नज़र
Dr. Sunita Singh
दहन अगर करना ही है तो
दहन अगर करना ही है तो
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गं गणपत्ये! जय कमले!
गं गणपत्ये! जय कमले!
श्री रमण 'श्रीपद्'
बहुत बातूनी है तू।
बहुत बातूनी है तू।
Buddha Prakash
Loading...