Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
Mar 22, 2022 · 1 min read

प्यार करते हो मुझे तुम तो यही उपहार देना

प्यार करते हो मुझे तुम तो यही उपहार देना
मैं तुम्हारा हो न पाऊँ , फिर भी मुझको प्यार देना

तुम अगर मेरे सुहृद हो तो मुझे तुम प्यार करना
तुम अगर मेरे नहीं हो तो भी ये उपकार करना
प्यार तुम देना न देना प्यार का अधिकार देना
मैं तुम्हारा हो न पाऊं….

प्रेम में कितना कठिन है सत्य को अधरों पे लाना
और उससे भी कठिन है प्रेम को दिल में छुपाना
प्रेम हो दिल में छुपा तो तुम उसे उदगार देना
मैं तुम्हारा हो……

प्यार को तुम फूल जैसा रंग देकर मत खिलाना
प्यार को तुम पंख देना प्यार को ख़ुशबू बनाना
प्यार को सीमित न रखना प्यार को विस्तार देना
मैं तुम्हारा हो न पाऊं…….

… शिवकुमार बिलगरामी

3 Likes · 1 Comment · 278 Views
You may also like:
*!* "पिता" के चरणों को नमन *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
बारिश की बौछार
Shriyansh Gupta
क्या लगा आपको आप छोड़कर जाओगे,
Vaishnavi Gupta
मेरी भोली “माँ” (सहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता)
पाण्डेय चिदानन्द
✍️कोई तो वजह दो ✍️
Vaishnavi Gupta
"सावन-संदेश"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
माँ (खड़ी हूँ मैं बुलंदी पर मगर आधार तुम हो...
Dr Archana Gupta
दिल का यह
Dr fauzia Naseem shad
बच्चों के पिता
Dr. Kishan Karigar
*जय हिंदी* ⭐⭐⭐
पंकज कुमार कर्ण
कोई खामोशियां नहीं सुनता
Dr fauzia Naseem shad
गरीबी पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
!!*!! कोरोना मजबूत नहीं कमजोर है !!*!!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
छीन लिए है जब हक़ सारे तुमने
Ram Krishan Rastogi
अपनी आदत में
Dr fauzia Naseem shad
ऐसे थे पापा मेरे !
Kuldeep mishra (KD)
गंगा दशहरा
श्री रमण 'श्रीपद्'
पिता जी
Rakesh Pathak Kathara
पिता की छांव
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
जीत कर भी जो
Dr fauzia Naseem shad
परिवाद झगड़े
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मेरे पिता
Ram Krishan Rastogi
किरदार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
✍️स्कूल टाइम ✍️
Vaishnavi Gupta
बंशी बजाये मोहना
लक्ष्मी सिंह
पितृ महिमा
मनोज कर्ण
ग़ज़ल /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अबके सावन लौट आओ
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आदमी कितना नादान है
Ram Krishan Rastogi
ज़िंदगी को चुना
अंजनीत निज्जर
Loading...