Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jul 2022 · 1 min read

पेशकश पर

पेशकश पर दिल
ग़ौर फरमाता ।
शौक-ए-फहरिस्त
हमको दे देते।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
13 Likes · 271 Views
You may also like:
बाबा अब जल्दी से तुम लेने आओ !
Taj Mohammad
【25】 *!* विकृत विचार *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
खड़ा बाँस का झुरमुट एक
Vishnu Prasad 'panchotiya'
फिर भी वो मासूम है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
खुद को ज़रा तुम
Dr fauzia Naseem shad
बुंदेली दोहा- गुदना
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
* तेरी चाहत बन जाऊंगा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
✍️अभी उलझे नहीं✍️
'अशांत' शेखर
Love never be painful
Buddha Prakash
मुहब्बत भी क्या है
shabina. Naaz
तेरी दहलीज़ तक
Kaur Surinder
Advice
Shyam Sundar Subramanian
तुझसे रूबरू होकर,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
अगनित उरग..
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
तेरा मेरा नाता
Alok Saxena
दीपावली २०२२ की हार्दिक शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
'एक सयानी बिटिया'
Godambari Negi
फर्ज अपना-अपना
Prabhudayal Raniwal
|| संत नरसी (नरसिंह) मेहता || 🌷
Pravesh Shinde
खुशियों भरे पल
surenderpal vaidya
ज़मज़म देर तक नहीं रहता
Dr. Sunita Singh
कौन किसके बिन अधूरा है
Ram Krishan Rastogi
एक तलाश
Ray's Gupta
प्रेम कविता
Rashmi Sanjay
कृष्णा आप ही...
Seema 'Tu hai na'
Writing Challenge- नृत्य (Dance)
Sahityapedia
भारत का सर्वोच्च न्यायालय
Shekhar Chandra Mitra
*विद्यालय की रिक्शा आई (बाल कविता)*
Ravi Prakash
जय हिन्द , वन्दे मातरम्
Shivkumar Bilagrami
तुलसी
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...