Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

पुस्तकें

जिंदगी की राह की मित्र होती, पुस्तकें,
भूत भविष्य वर्तमान सी होती, पुस्तकें।
इनमें समाया है धरा अनन्त विज्ञान भी,
मन के भावों में भी ये चेहरे सी, पुस्तकें।
पुस्तक दिवस पर समर्पित।
(कवि-डॉ शिव लहरी )

102 Views
You may also like:
बहुआयामी वात्सल्य दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कुएं का पानी की कहानी | Water In The Well...
harpreet.kaur19171
हमारें रिश्ते का नाम।
Taj Mohammad
डगर कठिन हो बेशक मैं तो कदम कदम मुस्काता हूं
VINOD KUMAR CHAUHAN
जाने क्यों
सूर्यकांत द्विवेदी
प्रिय
D.k Math
आज असंवेदनाओं का संसार देखा।
Manisha Manjari
उत्तर प्रदेश दिवस
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
साल नूतन तुम्हें प्रेम-यश-मान दे
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मैं बेटी हूँ।
Anamika Singh
बूँद-बूँद को तरसा गाँव
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बारिश
AMRESH KUMAR VERMA
तेरा पापा... अपने वतन में
Dr. Pratibha Mahi
अभी तुम करलो मनमानियां।
Taj Mohammad
राफेल विमान
jaswant Lakhara
जुल्म की इन्तहा
DESH RAJ
कलम
Dr Meenu Poonia
बेसहारा हुए हैं।
Taj Mohammad
"मेरे पापा "
Usha Sharma
वो काली रात...!
मनोज कर्ण
छलकाओं न नैना
Dr. Alpa H. Amin
यूं रूबरू आओगे।
Taj Mohammad
पिता
Satpallm1978 Chauhan
प्रार्थना
Anamika Singh
कुण्डलिया
शेख़ जाफ़र खान
गर बुरा लगता हूं।
Taj Mohammad
प्रकृति का अंदाज.....
Dr. Alpa H. Amin
फिर एक समस्या
डॉ एल के मिश्र
माँ तुम्हें सलाम हैं।
Anamika Singh
दाता
निकेश कुमार ठाकुर
Loading...