Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 21, 2022 · 1 min read

पुरी के समुद्र तट पर (1)

पुरी के समुद्र तट पर
हो चुका है सूर्योदय
मछुवारों की नावें
आ गयी हैं किनारे
जाल में फंसी हैं
रंग-बिरंगी मछलियाँ,
केकड़े,घोंघे,सुंदर सीप,
और भी बहुत कुछ
उठाता हूँ एक केकड़ा
अच्छी तस्वीर आती है,
फिर उठाता हूँ
एक छोटी सुनहरी मछली
दूसरी तस्वीर के लिए,
अचानक
एक मत्स्यगंधा पकड़ लेती है
मेरा दूसरा हाथ और
थमा देती है
एक लम्बी सुन्दर मछली
‘इसे पकड़ कर तस्वीर खिंचाइए’
रोमांचित हो उठता है तन-मन
सिहर जाता हूँ मैं
याद आते हैं महर्षि पराशर,
फिर, सम्राट शांतनु,
कहीं, तीसरा मैं तो नहीं?
© शैलेन्द्र ‘असीम’

1 Like · 2 Comments · 39 Views
You may also like:
राह जो तकने लगे हैं by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
कर्ज
Vikas Sharma'Shivaaya'
गुमनामी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अभी दुआ में हूं बद्दुआ ना दो।
Taj Mohammad
✍️हे शहीद भगतसिंग...!✍️
"अशांत" शेखर
एक मसीहा घर में रहता है।
Taj Mohammad
मां
Dr. Rajeev Jain
मैं कौन हूँ
Vikas Sharma'Shivaaya'
"वो पिता मेरे, मै बेटी उनकी"
रीतू सिंह
मुकरियां __नींद
Manu Vashistha
बेटी का पत्र माँ के नाम
Anamika Singh
बिक रहा सब कुछ
Dr. Rajeev Jain
ये चिड़िया
Anamika Singh
जहर कहां से आया
Dr. Rajeev Jain
परिंदों से कह दो।
Taj Mohammad
उसका नाम लिखकर।
Taj Mohammad
जल की अहमियत
Utsav Kumar Aarya
✍️क्रांतिसूर्य✍️
"अशांत" शेखर
पहले वाली मोहब्बत।
Taj Mohammad
मेरी राहे तेरी राहों से जुड़ी
Dr. Alpa H. Amin
माँ
आकाश महेशपुरी
【25】 *!* विकृत विचार *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
*हिम्मत मत हारो ( गीत )*
Ravi Prakash
पिता
Ray's Gupta
कर भला सो हो भला
Surabhi bharati
✍️मैं जब पी लेता हूँ✍️
"अशांत" शेखर
# अव्यक्त ....
Chinta netam " मन "
पिता घर की पहचान
vivek.31priyanka
उपदेश से तृप्त किया ।
Buddha Prakash
भारतीय संस्कृति के सेतु आदि शंकराचार्य
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...