Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 29, 2022 · 2 min read

पुत्रवधु

✒️📙जीवन की पाठशाला 📖🖋️

🙏 मेरे सतगुरु श्री बाबा लाल दयाल जी महाराज की जय 🌹

मेरे द्वारा स्वरचित एवं स्वमौलिक पांचवी कविता :-

विषय – पुत्रवधु

आज फिर एक पुत्रवधु को जलाया गया
आज फिर एक पुत्रवधु को घर से निकाला गया
आज फिर एक पिता समान ससुर द्वारा पुत्रवधु को नोंचा गया
आज फिर एक भाई समान जेठ /देवर द्वारा पुत्रवधु को रौंदा गया-1

क्या पुत्रवधु एक कबाड़ है जिसे जलाया जाता है
क्या पुत्रवधु बैंक खाता है जिसके खाली होने पर घर से निकाला जाता है
क्या ससुर को पिता तुल्य मानना अपराध है जो उसे नोंचा जाता है
क्या जेठ /देवर को मात्र राखी नहीं बाँधने से उसे रौंदा जाता है -2

इतिहास गवाह है की सास पुत्रवधु की सबसे बड़ी दुश्मन
इतिहास गवाह है की नन्द और जेठानी सास के दो बाजु
क्यों एक पुरानी पुत्रवधु नई पुत्रवधु की दुश्मन
अभी तक बना हुआ है पहेली ये प्रश्न -3

पुत्रवधु की एक गलती भी अस्वीकार
पुत्र की अनगिनत गलती भी स्वीकार
पुत्री 10 बजे भी सोकर उठे तो स्वीकार
पुत्रवधु को थोड़ी भी देर हो जाए तो अस्वीकार -4

पुत्र की गलती पर अभी बच्चा है का पर्दा है
पुत्रवधु की गलती पर संस्कार गलत का गर्दा है
पुत्र निकम्मा नाकाबिल तो भी थक जाता है
पुत्रवधु घर ऑफिस सम्हाल कर भी रोबोट है -5

हम क्यों नहीं समझते इन चापलूसों की भाषा
की हम बहु नहीं बेटी ले जा रहे हैं
की बेटी की आड़ में बेटा पैदा करने की मशीन ले जा रहे हैं
की बेटी की आड़ में नौकरानी मुफ्त की ले जा रहे हैं -6

पुत्र बीमार तो डॉक्टर के चक्कर और दवाइयों की भरमार
पुत्रवधु बीमार तो देशी घरेलु नुस्खों की बहार
पुत्र शारीरिक कमजोर तो भी पुत्रवधु दोषी
कब तक होती रहेगी पुत्रवधु की पेशी -7

कब हम समझेंगे की वो भी है किसी बगिया का फूल
कब हम समझेंगे की वो भी है किसी माँ बाप की नाजुक कली
कब हम समझेंगे की वो भी है छोटी की सहेली
कब हम उसको एक इंसान समझेंगे -कब आखिर कब -8

Affirmations :-
1-हर रोज मुझे अच्छे और सकारात्मक सपने आते है…
2-मैं हमेशा बड़ा सोचता हूँऔर बड़े परिणामो की उम्मीद करता हूँ …
3-मुझे विश्वास है की में कामयाब हो सकता हूँ…
4-मैं किसी भी परिस्थिति में हार नहीं मानता…
5-मुझे अपनी जिंदगी में बहुत आगे जाना है
6-मैं अभी से रोज कुछ नया सिख रहा हूँ ।
7-“मैं जादू हूँ- मैं चमत्कार देख रहा हूँ…
8-मेरा जीवन हर एक दिन बेहतर हो रहा है ।”

बाकी कल ,खतरा अभी टला नहीं है ,दो गज की दूरी और मास्क 😷 है जरूरी ….सावधान रहिये -सतर्क रहिये -निस्वार्थ नेक कर्म कीजिये -अपने इष्ट -सतगुरु को अपने आप को समर्पित कर दीजिये ….!
🙏सुप्रभात 🌹
आपका दिन शुभ हो
स्वरचित स्वमौलिक
विकास शर्मा'”शिवाया”
🔱जयपुर -राजस्थान 🔱

77 Views
You may also like:
✍️शराब का पागलपन✍️
"अशांत" शेखर
✍️पत्थर✍️
"अशांत" शेखर
=*तुम अन्न-दाता हो*=
Prabhudayal Raniwal
एक पनिहारिन की वेदना
Ram Krishan Rastogi
हो गई स्याह वह सुबह
gurudeenverma198
करते रहिये काम
सूर्यकांत द्विवेदी
महाभारत की नींव
ओनिका सेतिया 'अनु '
जिंदगी: एक संघर्ष
Aditya Prakash
मेरी प्यारी प्यारी बहिना
gurudeenverma198
रे बाबा कितना मुश्किल है गाड़ी चलाना
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पिता जी
Rakesh Pathak Kathara
My dear Mother.
Taj Mohammad
कलम
AMRESH KUMAR VERMA
'परिवर्तन'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
आत्महत्या क्यों ?
Anamika Singh
हम भी है आसमां।
Taj Mohammad
सौगंध
Shriyansh Gupta
✍️स्त्री : दोन बाजु✍️
"अशांत" शेखर
जो आया है इस जग में वह जाएगा।
Anamika Singh
जुल्म की इन्तहा
DESH RAJ
हम एक है
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
“NEW ABORTION LAW IN AMERICA SNATCHES THE RIGHT OF WOMEN”
DrLakshman Jha Parimal
नन्हें फूलों की नादानियाँ
DESH RAJ
विश्व मजदूर दिवस पर दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मकड़जाल
Vikas Sharma'Shivaaya'
कर भला सो हो भला
Surabhi bharati
काँटों में खिलो फूल-सम, औ दिव्य ओज लो।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
# हमको नेता अब नवल मिले .....
Chinta netam " मन "
पिता
पूनम झा 'प्रथमा'
राई का पहाड़
Sangeeta Darak maheshwari
Loading...