Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jun 2023 · 1 min read

पुकार

यदि सुन लेते तुम मेरी पुकार

मन प्रदीप्त पुनः हो जाता
गाने लगते नवीन राग
देता सुगन्धि पल्लव पल्लव
प्रकीर्ण हो जाता पराग

महक उठता बसन्त मधुमास
बजती मुरली अबकी बार
यदि सुन लेते……..

हे मुकुन्द मणि सुन पाते
हम भी तुमसे कुछ कह पाते
तुम भी अपनेपन से हमको
काश कदाचित कुछ कह जाते

देते सानिध्य जो पल भर का
भर जाती अंजुली अबकी बार
यदि सुन लेते…….

प्रीत की रीति नई हो जाती
हे कमल नयन की देखे पाखी
कहाँ छिपती अम्बुज की झांकी
ये दृष्टि तुम्हारी सबकुछ कह जाती

किया बहिष्कृत ये दोष मेरा ही
अवचेतन में किन्तु करता वार
यदि सुन ……..

स्नेह पाश का होता आलिंगन
ज्यूँ जेठ मास सावन का वर्षण
मन कपोल नव खिल जाते
तरुवर सर अश्रु जल वह जाते

रखते तुम वरद हस्त शीश तो
मिल जाता त्वम करुणा का सार
यदि तुम सुन लेते मेरी पुकार

???

Language: Hindi
Tag: गीत
16 Likes · 3 Comments · 246 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr.Pratibha Prakash
View all
You may also like:
■ ज्वलंत सवाल
■ ज्वलंत सवाल
*Author प्रणय प्रभात*
तुम्हारी यादें
तुम्हारी यादें
अजहर अली (An Explorer of Life)
खुदा ने ये कैसा खेल रचाया है ,
खुदा ने ये कैसा खेल रचाया है ,
Sukoon
"संवाद"
Dr. Kishan tandon kranti
ज़िंदगी चाहती है जाने क्या
ज़िंदगी चाहती है जाने क्या
Shweta Soni
Ab kya bataye ishq ki kahaniya aur muhabbat ke afsaane
Ab kya bataye ishq ki kahaniya aur muhabbat ke afsaane
गुप्तरत्न
कहीं पे पहुँचने के लिए,
कहीं पे पहुँचने के लिए,
शेखर सिंह
23/47.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/47.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
खुद ही खुद से इश्क कर, खुद ही खुद को जान।
खुद ही खुद से इश्क कर, खुद ही खुद को जान।
विमला महरिया मौज
Dear myself,
Dear myself,
पूर्वार्थ
" समय बना हरकारा "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
★दाने बाली में ★
★दाने बाली में ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
सावन सूखा
सावन सूखा
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
*पत्नी माँ भी है, पत्नी ही प्रेयसी है (गीतिका)*
*पत्नी माँ भी है, पत्नी ही प्रेयसी है (गीतिका)*
Ravi Prakash
एक बेरोजगार शायर
एक बेरोजगार शायर
Shekhar Chandra Mitra
हमारे दोस्त
हमारे दोस्त
Shivkumar Bilagrami
उल्फत अय्यार होता है कभी कबार
उल्फत अय्यार होता है कभी कबार
Vansh Agarwal
,,
,,
Sonit Parjapati
लफ्ज़
लफ्ज़
Dr Parveen Thakur
बहुत सहा है दर्द हमने।
बहुत सहा है दर्द हमने।
Taj Mohammad
तुम मेरे बादल हो, मै तुम्हारी काली घटा हूं
तुम मेरे बादल हो, मै तुम्हारी काली घटा हूं
Ram Krishan Rastogi
एक सपना
एक सपना
Punam Pande
वृक्ष धरा की धरोहर है
वृक्ष धरा की धरोहर है
Neeraj Agarwal
देवो रुष्टे गुरुस्त्राता गुरु रुष्टे न कश्चन:।गुरुस्त्राता ग
देवो रुष्टे गुरुस्त्राता गुरु रुष्टे न कश्चन:।गुरुस्त्राता ग
Shashi kala vyas
प्रणय 10
प्रणय 10
Ankita Patel
बंदूक के ट्रिगर पर नियंत्रण रखने से पहले अपने मस्तिष्क पर नि
बंदूक के ट्रिगर पर नियंत्रण रखने से पहले अपने मस्तिष्क पर नि
Rj Anand Prajapati
***होली के व्यंजन***
***होली के व्यंजन***
Kavita Chouhan
अपना जीवन पराया जीवन
अपना जीवन पराया जीवन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
नाम में सिंह लगाने से कोई आदमी सिंह नहीं बन सकता बल्कि उसका
नाम में सिंह लगाने से कोई आदमी सिंह नहीं बन सकता बल्कि उसका
Dr. Man Mohan Krishna
💐अज्ञात के प्रति-125💐
💐अज्ञात के प्रति-125💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...