Sep 19, 2016 · 1 min read

पिरामिड

सादर नमन बीर शहीदों को
“पिरामिड”
रे
पाक
हेकड़ी
दिखाता है
पीठ पीछे से
वार कायर का
दानत गिराता है॥
ले
देख
अपनी
आँखों से
कारगिल
बंगला देश
बचा ले लाहौर
आँख तूँ मिलाता है॥

महातम मिश्र, गौतम गोरखपुरी

133 Views
You may also like:
अहंकार
AMRESH KUMAR VERMA
मतदान का दौर
Anamika Singh
அழியக்கூடிய மற்றும் அழியாத
Shyam Sundar Subramanian
जला दिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
अभी बाकी है
Lamhe zindagi ke by Pooja bharadawaj
श्रीराम गाथा
मनोज कर्ण
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
यादों की गठरी
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
पृथ्वी दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माँ तेरी जैसी कोई नही।
Anamika Singh
🌺🌺दोषदृष्टया: साधके प्रभावः🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सीख
Pakhi Jain
मजदूर की अंतर्व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
मातृ रूप
श्री रमण
अन्याय का साथी
AMRESH KUMAR VERMA
सारी दुनिया से प्रेम करें, प्रीत के गांव वसाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
साहित्यकारों से
Rakesh Pathak Kathara
आसान नहीं होता है पिता बन पाना
Poetry By Satendra
दोहा छंद- पिता
रेखा कापसे
कौन आएगा
Dhirendra Panchal
हर एक रिश्ता निभाता पिता है –गीतिका
रकमिश सुल्तानपुरी
तितली सी उड़ान है
VINOD KUMAR CHAUHAN
सोचता रहता है वह
gurudeenverma198
ईद
Khushboo Khatoon
तुम हो
Alok Saxena
तेरा यह आईना
gurudeenverma198
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
"सुकून की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
ईद में खिलखिलाहट
Dr. Kishan Karigar
💐आत्म साक्षात्कार💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...