Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Apr 2022 · 1 min read

पिता

दीपाली कालरा
विषय मेरे पापा
आज सबने मेरे पापा की रट लगाई है।
मेरे पापा के नाम पर स्टेट्स पर अपने पापा की फ़ोटो चिपकाई है।
और देखो मेरी किस्मत, मुझे सिर्फ मेरे पापा की याद आई है।
पिता का प्यार और हाथ सर पर होना खुशनसीबी की बात होती है,
पर मेरे जहन में बस मेरे पिता की यादे समाई है।
छीन लिया भगवान ने कुछ साल पहले पिता को, ये सोच मेरी आँखें भर आईं है।
लोगो के स्टेटस देख मुझे मेरे पापा की आज बहुत याद आई है
दीपाली कालरा

Language: Hindi
Tag: कविता
8 Likes · 6 Comments · 211 Views
You may also like:
देखिए भी किस कदर हालात मेरे शहर में।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
पुरी के समुद्र तट पर (1)
Shailendra Aseem
क्या प्रात है !
Saraswati Bajpai
४० कुंडलियाँ
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
“ हम महान बनने की चाहत में लोगों से दूर...
DrLakshman Jha Parimal
🚩अमर कोंच-इतिहास
Pt. Brajesh Kumar Nayak
A pandemic 'Corona'
Buddha Prakash
Advice
Shyam Sundar Subramanian
एहसास
Er.Navaneet R Shandily
लेके काँवड़ दौड़ने
Jatashankar Prajapati
चिड़िया और जाल
DESH RAJ
'प्रेम' ( देव घनाक्षरी)
Godambari Negi
I hope one day the clouds been gone and the...
Manisha Manjari
तीन शर्त"""'
Prabhavari Jha
अंधविश्वास - कहानी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ग़म की ऐसी रवानी....
अश्क चिरैयाकोटी
बेवफा
Aditya Raj
पिता का आशीष
Prabhudayal Raniwal
कर्म का मर्म
Pooja Singh
आँसू
लक्ष्मी सिंह
ऐसे हंसते रहो(14 नवम्बर बाल दिवस पर)
gurudeenverma198
औरत तेरी यही कहानी
विजय कुमार अग्रवाल
*षड्यंत्र (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
अवसर
Shekhar Chandra Mitra
मेरे अल्फाज़
Dr fauzia Naseem shad
हिन्दू साम्राज्य दिवस
jaswant Lakhara
✍️बसेरा✍️
'अशांत' शेखर
व्याकुल हुआ है तन मन, कोई बुला रहा है।
सत्य कुमार प्रेमी
चाँद ......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
कभी हम भी।
Taj Mohammad
Loading...