Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#1 Trending Author
Apr 16, 2022 · 1 min read

पिता

पिता बाहर कड़ी धूप में जलता है।
तब कही घर में चूल्हा जलता है।।

पिता एक उम्मीद है एक आस है।
परिवार की हिम्मत व विश्वाश है।।

पिता बाहर से सख्त अंदर से नर्म है।
उसके दिल में दफ़न अनेको मर्म है।।

पिता है तो सारे रंगीन सपने है।
बाजार के सारे खिलोने अपने है।

पिता भले ही ऊपर से गरीब है।
पर अन्दर से वह बहुत अमीर है।।

पिता परिवार का बड़ा अरमान है।
हर मुश्किल उसके लिए आसान है।।

पिता जिन्दगी की धूप में छाया है।
पर वह मुसीबत में नही घबराया है।।

पिता आंधियों में हौसलों की दीवार है।
मुसीबतो के दिनों में दो धारी तलवार है।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

39 Likes · 74 Comments · 650 Views
You may also like:
जेष्ठ की दुपहरी
Ram Krishan Rastogi
खोकर के अपनो का विश्वास ।....(भाग - 3)
Buddha Prakash
मां सरस्वती
AMRESH KUMAR VERMA
✍️स्त्रोत✍️
"अशांत" शेखर
" जीवित जानवर "
Dr Meenu Poonia
मै और तुम ( हास्य व्यंग )
Ram Krishan Rastogi
आईने की तरह मैं तो बेजान हूँ
सन्तोष कुमार विश्वकर्मा 'सूर्य'
धुआं उठा है कही,लगी है आग तो कही
Ram Krishan Rastogi
अथक प्रयत्न
Dr.sima
नवाब तो छा गया ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
मेरी मोहब्बत की हर एक फिक्र में।
Taj Mohammad
"भोर"
Ajit Kumar "Karn"
खिले रहने का ही संदेश
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
यदि मेरी पीड़ा पढ़ पाती
Saraswati Bajpai
पुस्तक समीक्षा -एक थी महुआ
Rashmi Sanjay
पत्थर के भगवान
Ashish Kumar
एक पल में जीना सीख ले बंदे
Dr.sima
वक्त और दिन
DESH RAJ
उपज खोती खेती
विनोद सिल्ला
आनंद अपरम्पार मिला
श्री रमण
✍️मैं परिंदा...!✍️
"अशांत" शेखर
💐💐परमात्मा इन्द्रियादिभि: परेय💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी
Jatashankar Prajapati
छीन लिए है जब हक़ सारे तुमने
Ram Krishan Rastogi
पिता के रिश्ते में फर्क होता है।
Taj Mohammad
उसका नाम लिखकर।
Taj Mohammad
एक संकल्प
Aditya Prakash
The Send-Off Moments
Manisha Manjari
✍️KITCHEN✍️
"अशांत" शेखर
कल्पना
Anamika Singh
Loading...