Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

पिता श्रेष्ठ है इस दुनियां में जीवन देने वाला है

परमपिता से बढ़कर जिसने मुझको सदा सम्हाला है।
पिता श्रेष्ठ है इस दुनिया में जीवन देने वाला है।।

जन्म दिया है रूप रंग दे जिसने हमें सजाया।
गोद उठाया पकड़ उंगलियाँ चलना हमें सिखाया।
शिक्षा-दीक्षा ज्ञान सभी दे हमको मन से पाला है।
पिता श्रेष्ठ है इस दुनिया में जीवन देने वाला है।।

कठिन समय जब भी आया मुश्किल ने मुझको घेरा।
खड़ा मिला पीछे वो हर पल कान्धा पकड़े मेरा।
मुश्किल होंगी उन्हें मगर नाजों से मुझको पाला है।
पिता श्रेष्ठ है इस दुनिया में जीवन देने वाला है।।

मंजिल पाकर आगे बढ़ता जलती दुनिया सारी।
खुश होता वो पिता तरक्की हम करते जब भारी।
वही सिखाता मेहनत कर लो वरना जीवन काला है।
पिता श्रेष्ठ है इस दुनिया में जीवन देने वाला है।।

भाई बहन और परिजन का ध्यान पिता ही रखते।
भूखे ही रह जाते हैं वो बालभोग सब चखते।
सबको तृप्त कर रहा पहले पाया बाद निवाला है।
पिता श्रेष्ठ है इस दुनिया में जीवन देने वाला है।।

कितने कष्टों से पाला है इसका पता लगाओ।
अरमानों को घोटा होगा दिल की जांच कराओ।
बीमारी में रोया होगा आंसू गुम कर डाला है।
पिता श्रेष्ठ है इस दुनिया में जीवन देने वाला है।।
———
सतीश मिश्र ‘अचूक’
आशुकवि व पत्रकार
पंकज कॉलोनी गली नम्बर 10 पूरनपुर जनपद पीलीभीत।

2 Likes · 2 Comments · 59 Views
You may also like:
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग३]
Anamika Singh
किसी पथ कि , जरुरत नही होती
Ram Ishwar Bharati
If We Are Out Of Any Connecting Language.
Manisha Manjari
परदेश
DESH RAJ
*सुकृति: हैप्पी वर्थ डे* 【बाल कविता 】
Ravi Prakash
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता हैं [भाग८]
Anamika Singh
💐💐प्रेम की राह पर-18💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सुनसान राह
AMRESH KUMAR VERMA
हे विधाता शरण तेरी
Saraswati Bajpai
रिश्तों की डोर
मनोज कर्ण
आज कुछ ऐसा लिखो
Saraswati Bajpai
नीति के दोहे 2
Rakesh Pathak Kathara
✍️शरारत✍️
"अशांत" शेखर
अनमोल घड़ी
Prabhudayal Raniwal
आस्माँ के परिंदे
VINOD KUMAR CHAUHAN
बे-पर्दे का हुस्न।
Taj Mohammad
मुझे चाहत हैं तेरी.....
Dr. Alpa H. Amin
वक्त मलहम है।
Taj Mohammad
शहीदों का यशगान
शेख़ जाफ़र खान
अटल विश्वास दो
Saraswati Bajpai
(((मन नहीं लगता)))
दिनेश एल० "जैहिंद"
सम्भव कैसे मेल सखी...?
पंकज परिंदा
गीत
शेख़ जाफ़र खान
किसी को गिराया नहीं मैनें।
Taj Mohammad
अस्मतों के बाज़ार लग गए हैं।
Taj Mohammad
जीवन साथी
जगदीश लववंशी
मुझे धोखेबाज न बनाना।
Anamika Singh
तुम हो फरेब ए दिल।
Taj Mohammad
मजदूर बिना विकास असंभव ..( मजदूर दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
एहसासात
Shyam Sundar Subramanian
Loading...