Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Apr 2022 · 1 min read

पिता मेरे /

:: पिता मेरे ::
—————-
क्या सही है ? क्या गलत है ?
जानते थे पिता मेरे ।

दे रही थी एक पैनी
दृष्टि हम पर रोज पहरा ।
मुस्कुराहट में छिपाकर
ज़िंदगी का दर्द गहरा ।
आज उसकी याद है नम ।
याद से आबाद हैं हम ।
भूल मेरी क्षमा करते,
प्यार में ही रमा करते ।
चूक होने से ही पहले
भाँपते थे पिता मेरे ।

कौन अपना ? क्या पराया ?
हाथ हर-पल खुला रखते ।
भूल कुण्ठा,वर्जनाएँ
हृदय अपना धुला रखते ।
तौर-तरीके, सीख देने,
सोचकर ही पाँव रखते ।
सुख औ’ दुख की
जटिल दूरी नापते थे पिता मेरे ।

क्या सही है ? क्या गलत है ?
जानते थे पिता मेरे ।

— ईश्वर दयाल गोस्वामी
छिरारी (रहली),सागर
मध्यप्रदेश ।
मोबाइल नंबर- 8463884927

Language: Hindi
Tag: गीत
35 Likes · 74 Comments · 1052 Views
You may also like:
अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
अराजकता के माहौल
Shekhar Chandra Mitra
गर्मी पर दोहे
Ram Krishan Rastogi
शिशिर की रात
लक्ष्मी सिंह
【6】** माँ **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
मोटर गाड़ी खिलौना
Buddha Prakash
कांटों पर उगना सीखो
VINOD KUMAR CHAUHAN
वक्त वक्त की बात है 🌷🌷
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
# दिल्ली होगा कब्जे में .....
Chinta netam " मन "
लकड़ी में लड़की / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
षडयंत्रों की कमी नहीं है
सूर्यकांत द्विवेदी
*उजड़ जाता है वह उपवन जहॉं माली नहीं होता (मुक्तक)*
Ravi Prakash
‘कन्याभ्रूण’ आखिर ये हत्याएँ क्यों ?
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
हमदर्द हो जो सबका मददगार चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
चार्वाक महाभारत का
AJAY AMITABH SUMAN
इज्जत
Rj Anand Prajapati
Advice
Shyam Sundar Subramanian
पत्थर दिल है।
Taj Mohammad
भोजन
Vikas Sharma'Shivaaya'
पिता
Shailendra Aseem
कृष्ण चतुर्थी भाद्रपद, है गणेशावतार
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
" व्यथा पेड़ की"
Dr Meenu Poonia
किस्मत एक ताना...
Sapna K S
हिंदी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कर्म
Anamika Singh
दास्तां-ए-दर्द
Seema 'Tu hai na'
मर गये ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
✍️मोहसुख✍️
'अशांत' शेखर
पिता
Aruna Dogra Sharma
दिशा
Saraswati Bajpai
Loading...