Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 31, 2022 · 1 min read

पिता की याद

“एक छोटी सी बच्ची जो अपने पापा को नहीं मिल पाती अपनी माँ को शिकायत करती है ”

माँ तुम मुझे सुबह जल्दी उठाती क्यों नहीं
लेट हो गई हो कहकर नहलाती क्यों नहीं ,

माँ मेरा लंच बाक्स लगाती क्यों नहीं
कुछ अच्छा पकाती क्यों नहीं,

माँ मुझे किताबें दिलाती क्यों नहीं
मेरा स्कूल बैग लगाती क्यों नहीं,

माँ हमारे घर के सामने वैन हान्न बजाती क्यों नहीं
मुझे ए, बी, सी, डी पढाती क्यों नहीं,

माँ मुझे सुंदर कपड़े अच्छे खिलौने दिलाती क्यों नहीं
मुझे क्या बनना है माँ मुझे बताती क्यों नहीं,

माँ – “काश तेरे पापा होते”

इतनी लाचार मै होती नहीं दूसरो के घरों में मै
चुला, चौका, झाड़ू, पोछा मै करती नहीं,

जब वो साथ थे सभी सगे संबंधि थे
आज सभी छोड़ कर चले गए,

अब किसी को हमारी याद नहीं आती
अकेले मै ये सब नहीं कर पाती,

काश तेरे पापा होते तो मै यू बुढीया सी न लगती
मै भी चुडी ,बिंदी, और गहने खरीद पाती,

काश तेरे पापा होते
तेरे सारे सपने सच कर देते |

28 Likes · 49 Comments · 293 Views
You may also like:
कभी-कभी आते जीवन में...
डॉ.सीमा अग्रवाल
ये चिड़िया
Anamika Singh
✍️सुकून✍️
'अशांत' शेखर
" जननायक "
DrLakshman Jha Parimal
मां ने।
Taj Mohammad
*भारती* *(कुंडलिया)*
Ravi Prakash
उम्मीद
Dr fauzia Naseem shad
झूठे गुरुर में जीते हैं।
Taj Mohammad
अपने इश्क को।
Taj Mohammad
प्रकृति
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हुस्न में आफरीन लगती हो
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
तुमसे इश्क कर रहे हैं।
Taj Mohammad
ईद मना रही है।
Taj Mohammad
✍️बात मुख़्तसर बदल जायेगी✍️
'अशांत' शेखर
" सिर का ताज हेलमेट"
Dr Meenu Poonia
'मृत्यु'
Godambari Negi
तीरगी से निबाह करते रहे
Anis Shah
✍️ये जरुरी नहीं✍️
'अशांत' शेखर
कौन होता है कवि
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Gazal
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
मेरी भोली “माँ” (सहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता)
पाण्डेय चिदानन्द
ॐ नीलकंठ शिव है वो
Swami Ganganiya
हिंदी से प्यार करो
Pt. Brajesh Kumar Nayak
हम अपने मन की किस अवस्था में हैं
Shivkumar Bilagrami
इश्क है यही।
Taj Mohammad
✍️तंगदिली✍️
'अशांत' शेखर
✍️बदल रहा है कुछ कुछ✍️
'अशांत' शेखर
परित्यक्ता
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
Baby cries.
Taj Mohammad
नफरत की राजनीति...
मनोज कर्ण
Loading...