Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Oct 2, 2021 · 1 min read

पिता की छाँव…

पिता की छाँव
~~~~~~~

अँखियों में अरमाँ संजोए,निर्बल थी काया,
पिता की छाँव कहूँ या बरगद की छाया…
खो गया जब आज मैं ,
अतीत की यादों में ।
बचपन के झरोखों में ,
कैसे जज्बात थे ।
मुश्किल भरे हालातों में ,
जब खाने को मोहताज थे ।
मैं खाया था भरपेट ,
पर उसने न कुछ खाया ।
पिता की छाँव कहूँ या बरगद की छाया…

खिलते हुए बचपन में ,
कभी कोई शिकन न थी ।
पूरी की जाती थी ,
जिद की हर फरमाईश ।
दिन हो या रात हो ,
पूरी होती थी हर ख्वाहिश ।
अँगुली पकड़ कर उन्होंने ,
चलना था सिखलाया ।
पिता की छाँव कहूँ या बरगद की छाया…

मेरे सपनों की उड़ान को ,
पंख दिया था उन्होंने ।
इस दुख भरी नगरी में ,
संस्कारों को उन्होंने सिखलाया ।
मरने की आरजू में ,
जीने का सही मकसद बतलाया ।
पिता की छाँव कहूँ या बरगद की छाया…

लड़ते थे हम सभी ,
झगड़ते थे भाइयों में ।
उनकी उपस्थिति मात्र से ही ,
दूर हो जाते थे सारे गिले-शिकवे ।
क्रोध जब करते थे वो,
रो लेते थे वे अन्तर्मन से ,
पर दिल कभी न दुखाया ।
पिता की छाँव कहूँ या बरगद की छाया…

भूला दिया मैंने उन्हें ,
जवानी जब आया ।
यौवन की दहलीज ने ,
मन को जो भरमाया ।
कैसे कहूँ, किससे कहूँ ,
इस जिन्दगी की माया ।
पिता की छाँव कहूँ या बरगद की छाया…

मौलिक एवं स्वरचित
सर्वाधिकार सुरक्षित
© ® मनोज कुमार कर्ण
कटिहार ( बिहार )
तिथि – ०२ /१०/२०२१
मोबाइल न. – 8757227201

5 Likes · 4 Comments · 698 Views
You may also like:
मुकद्दर ने
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
क्या गढ़ेगा (निर्माण करेगा ) पाकिस्तान
Dr.sima
उसने ऐसा क्यों किया
Anamika Singh
शृंगार छंद और विधाएं
Subhash Singhai
पिता का सपना
श्री रमण
ये सियासत है।
Taj Mohammad
✍️वास्तविकता✍️
"अशांत" शेखर
चूँ-चूँ चूँ-चूँ आयी चिड़िया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
अंकपत्र सा जीवन
सूर्यकांत द्विवेदी
अजीब मनोस्थिति "
Dr Meenu Poonia
मजदूर.....
Chandra Prakash Patel
वीर विनायक दामोदर सावरकर जिंदाबाद( गीत )
Ravi Prakash
✍️मी परत शुन्य होणार नाही..!✍️
"अशांत" शेखर
मैं भारत हूँ
Dr. Sunita Singh
💐💐तुमसे दिल लगाना रास आ गया है💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
☆☆ प्यार का अनमोल मोती ☆☆
Dr. Alpa H. Amin
मौत बाटे अटल
आकाश महेशपुरी
पापा
Anamika Singh
✍️✍️बूद✍️✍️
"अशांत" शेखर
💐प्रेम की राह पर-25💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
🌷"फूलों की तरह जीना है"🌷
पंकज कुमार "कर्ण"
मारुति वंदन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
Touching The Hot Flames
Manisha Manjari
"एक यार था मेरा"
Lohit Tamta
चित्कार
Dr Meenu Poonia
कुंडलिया छंद ( योग दिवस पर)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
गीत - मुरझाने से क्यों घबराना
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग३]
Anamika Singh
परिवार दिवस
Dr Archana Gupta
दोहा छंद- पिता
रेखा कापसे
Loading...