#23 Trending Author #21 Trending Post

“पिता का साया”

सब की चाहत, कि हो जहाँ मेँ, कोई सरमाया,
परवरिश को है, पर दरकार, पिता का साया।

गोद मेँ ले के, मुहल्ले मेँ, हाट, मेले मेँ,
कभी बिस्किट, तो खिलौनों का कभी दिलवाना।

हार कर, थक के, पसीने मेँ भले तर आना,
काम से लौटकर, जी भर के, उसका दुलराना।

हिदायतें भी, हर क़दम की, याद हैं मुझको,
पकड़ के हाथ मेँ उँगली, वो राह चलवाना।

अपनी औलाद के आगे,न ख़ुद को कुछ गिनना,
फ़र्क बेटी मेँ, या बेटे मेँ, न हरगिज़ जाना।

जाके स्कूल, एडमिशन वो, झट से करवाना,
दीदे-पुरनम, मगर मुस्का के, छोड़ कर आना।

गरज़ कि लाड़ले को, कोई कुछ न कह पाए,
ख़र्च सब काट करके, फ़ीस मगर भर आना।

हुआ बीमार, तो सोना न, रात भर उसका,
जाके अच्छे से अच्छे, डाक्टर को दिखलाना।

इल्मो-तालीम हो आला, यही ख़्वाहिश उसकी,
सँस्कारोँ का, ख़ज़ाना हो, आँख का तारा।

भले ही माँ की, अहमियत है निराली “आशा”,
जगह पिता की भी, हरगिज़ न कोई ले पाया..!

##———–##———–##————##———

रचयिता
Dr.asha kumar rastogiM.D.(Medicine), DTCD
Ex.Senior Consultant Physician, district hospital, Moradabad.
Presently working as Consultant Physician and Cardiologist, sri Dwarika hospital, near sbi Muhamdi, dist Lakhimpur kheri U.P. 262804 M.9415559964

84 Likes · 171 Comments · 600 Views
You may also like:
बदल रहा है देश मेरा
Anamika Singh
प्यार, इश्क, मुहब्बत...
Sapna K S
परेशां हूं बहुत।
Taj Mohammad
ग़म की ऐसी रवानी....
अश्क चिरैयाकोटी
ना कर गुरुर जिंदगी पर इतना भी
VINOD KUMAR CHAUHAN
मैं उनको शीश झुकाता हूँ
Dheerendra Panchal
पिता के रिश्ते में फर्क होता है।
Taj Mohammad
स्थापना के 42 वर्ष
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जीने की चाहत है सीने में
Krishan Singh
दिल तड़फ रहा हैं तुमसे बात करने को
Krishan Singh
✍️🌺प्रेम की राह पर-46🌺✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
महापंडित ठाकुर टीकाराम 18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित
श्रीहर्ष आचार्य
【28】 *!* अखरेगी गैर - जिम्मेदारी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
जंगल में कवि सम्मेलन
मनोज कर्ण
कांटों पर उगना सीखो
VINOD KUMAR CHAUHAN
मेरे बेटे ने
Dhirendra Panchal
!?! सावधान कोरोना स्लोगन !?!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
बदलती परम्परा
Anamika Singh
एक संकल्प
Aditya Prakash
जिंदगी और करार
ananya rai parashar
श्रम पिता का समाया
शेख़ जाफ़र खान
तेरे दिल में कोई साजिश तो नहीं
Krishan Singh
🙏मॉं कालरात्रि🙏
पंकज कुमार "कर्ण"
बुद्ध या बुद्धू
Priya Maithil
विश्व पुस्तक दिवस (किताब)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ऐसी सोच क्यों ?
Deepak Kohli
पापा आप बहुत याद आते हो।
Taj Mohammad
कवि का परिचय( पं बृजेश कुमार नायक का परिचय)
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*!* "पिता" के चरणों को नमन *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
शेर राजा
Buddha Prakash
Loading...