Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 16, 2022 · 1 min read

पारिवारिक बंधन

हमारे ऊपर सदा से ही
रहता परिवार का साया
सपरिप्रेक्ष्य में हमसबों को
देता सहचारिता यहां पर
हमसबों को इस रत्नाभ पे
सतत बंधे रहे इस बंधन में।

कोई न देता सोहबत जहां में
न किसी का कोई होता यहां
जो हमारे अतिशय विद्यमान
सतत रहता प्रायः बहुधा वही
अक्सर हो जाता पृथक हमसे
एकांकी यही बंधन में न होता ।

अगर किसी को हम मानते
स्वजन इस जगत, संसार में
मित्र, सखा हो या कोई सखियां
अक्सर न देता साथ कोई हमारा
परिवारिक सदस्य ही हमें सतत
देता है साथ इस अनूठे जहांन में।

पारिवारिक ही ऐसा होता बंधन
जिसमें न कोई क्लेश न विभीषि
परिवार के सदस्य ही हमसब को
हर अवस्था, हालत में देता साथ
चाहे कितनी भी बड़ी हो उपपाद्य
अंत्य सांस तक करते रक्षा हमारे ।

अमरेश कुमार वर्मा
जवाहर नवोदय विद्यालय बेगूसराय, बिहार

1 Like · 135 Views
You may also like:
लगा हूँ...
Sandeep Albela
जानें किसकी तलाश है।
Taj Mohammad
जीवन संगनी की विदाई
Ram Krishan Rastogi
जीवन संगीत
Shyam Sundar Subramanian
जीवन एक कारखाना है /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
ख्वाब तो यही देखा है
gurudeenverma198
पहचान
Anamika Singh
सपनों का महल
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
यह इश्क है।
Taj Mohammad
चलो दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
💐 ग़ुरूर मिट जाएगा💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मेरी प्यारी प्यारी बहिना
gurudeenverma198
Oh dear... don't fear.
Taj Mohammad
जनसंख्या नियंत्रण जरूरी है।
Anamika Singh
✍️✍️बूद✍️✍️
'अशांत' शेखर
निर्गुण सगुण भेद..?
मनोज कर्ण
बहुत अच्छे लगते ( गीतिका )
Dr. Sunita Singh
** तेरा बेमिसाल हुस्न **
DESH RAJ
भगवान सा इंसान को दिल में सजा के देख।
सत्य कुमार प्रेमी
कल कह सकता है वह ऐसा
gurudeenverma198
“सराय का मुसाफिर”
DESH RAJ
🌺प्रेम की राह पर-52🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गीता की महत्ता
Pooja Singh
प्रकृति का उपहार
Anamika Singh
जब जब ही मैंने समझा आसान जिंदगी को।
सत्य कुमार प्रेमी
यह मत भूलों हमने कैसे आजादी पाई है
Anamika Singh
कौन होता है कवि
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
प्रेम की परिभाषा
Nitu Sah
काव्य संग्रह से
Rishi Kumar Prabhakar
Loading...